उमेश की ख़तरनाक गेंदबाजी के सामने नहीं टिक पाये आस्ट्रेलिया के ओपनर बल्लेबाज

आस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी पहले टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को चार विकेट लेने वाले भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कहा कि उनकी कोशिश कसी हुई गेंदबाजी करने और रन न देने की थी। आस्ट्रेलिया ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक नौ विकेट के नुकसान पर 256 रन बना लिए हैं। यादव ने आस्ट्रेलिया के चार बल्लेबाजों को पवेलियन पहुंचाया।

वजह चौंकाने वाली: जिस उंगली पर लग रही स्याही, उसे ‘काटकर’ फेंक रहे वोटरबड़ी ख़बर: पीएम मोदी ने किया सबसे बड़ा ऐलान, कहा इस बार अयोध्या में बनेगा राम मंदिर

गेंदबाज उमेश यादव

उनके अलावा रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा ने दो-दो विकेट लिए। जयंत यादव के हिस्से एक विकेट आया।

पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद यादव ने कहा, “मैं कसी हुई गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहा था और बल्लेबाजों द्वारा गलती करने के इंतजार में था। मेरी कोशिश रन न देने की थी।”

उन्होंने कहा, “मैं जानता था कि अगर वह अपने शॉट खेलने जाएंगे तो गलती करेंगे। गेंद के रिवर्स स्विंग होने से मुझे मदद मिली।”

यादव ने कहा कि वह टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले और बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ के साथ अपनी लाइन लैंथ पर काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “मैं अनिल और संजय के साथ अपनी लाइन लैंथ पर अभ्यास कर रहा हूं। पिछले छह महीनों में मैंने जो मेहनत की, वह काम आ रही है।”

यादव ने भारत को पहली सफलता दिलाई। उन्होंने डेविड वार्नर को आउट कर आस्ट्रेलिया को पहला झटका दिया।

वार्नर के विकेट पर यादव ने कहा, “मेरा स्पैल देर से शुरू हुआ था। मैं जानता था कि गेंद स्विंग कर रही है। मैं उन्हें ऊपर गेंद फेंकने की कोशिश में था और उनको हाथ खोलने का मौका नहीं देना चाहता था।”

loading...

You May Also Like

English News