एकदम नए और गरमा-गरम WHATSAPP STATUS

व्यक्ति का सम्मान उन शब्दों से नहीं है जो उसकी उपस्थिति में कहे जाये, बल्कि उन शब्दों से है जो उसकी अनुपस्थिति में कहे जाये.व्यक्ति का सम्मान उन शब्दों से नहीं है जो उसकी उपस्थिति में कहे जाये, बल्कि उन शब्दों से है जो उसकी अनुपस्थिति में कहे जाये.  किसीको प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार है, तो किसीका प्रेम पाना सबसे बड़ा सम्मान.  इंसान के भीतर जो छलके वो स्वाभिमान है, और बाहर जो छलके वो अभिमान है.  सार्थक व प्रभावी उपदेश सिर्फ वह है, जो वाणी से नहीं बल्कि अपने आचरण से प्रस्तुत किया जाय.  मैंने जब भी रब से गुजारिश की है, तेरे चहेरे पे हँसी की सिफारिश की है.  देख भाई !!! Status मत देख… हम तो अपना #Status सभी के दिलों दिमाग पर #Update# करते है… WhatsApp पर नहीं.  दिल में छुपा रखी है मुहब्बत तुम्हारी काले धन की तरह, खुलासा नहीं करता हुँ कि कही हंगामा ना हाे जाये.  ज़ख्म देकर ना पुछा करो दर्द कि शिद्दत क्या, दर्द तो दर्द हो ता है, थोड़ा क्या और ज्यादा क्या.  बाग में टहलते एक दिन जब वो बेनकाब हो गये, जितने पेड़ थे बबुल के, सब के सब गुलाब हो गये.  बोलने से पहले शब्द मनुष्य के वश में होते है, किंतु बोलने के बाद मनुष्य शब्दों के वश में हो जाता है.  समय दिखाई नहीं देता, लेकिन बहुत कुछ दिखा जाता है.  प्रीत ना करिये पछी समान जल सुखे उड़ जाये, प्रीत करिये मछली जैसी जल सुखे मर जाये.

किसीको प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार है, तो किसीका प्रेम पाना सबसे बड़ा सम्मान.

इंसान के भीतर जो छलके वो स्वाभिमान है, और बाहर जो छलके वो अभिमान है.

सार्थक व प्रभावी उपदेश सिर्फ वह है, जो वाणी से नहीं बल्कि अपने आचरण से प्रस्तुत किया जाय.

मैंने जब भी रब से गुजारिश की है, तेरे चहेरे पे हँसी की सिफारिश की है.

देख भाई !!! Status मत देख… हम तो अपना #Status सभी के दिलों दिमाग पर #Update# करते है… WhatsApp पर नहीं.

दिल में छुपा रखी है मुहब्बत तुम्हारी काले धन की तरह, खुलासा नहीं करता हुँ कि कही हंगामा ना हाे जाये.

ज़ख्म देकर ना पुछा करो दर्द कि शिद्दत क्या, दर्द तो दर्द हो ता है, थोड़ा क्या और ज्यादा क्या.

बाग में टहलते एक दिन जब वो बेनकाब हो गये, जितने पेड़ थे बबुल के, सब के सब गुलाब हो गये.

बोलने से पहले शब्द मनुष्य के वश में होते है, किंतु बोलने के बाद मनुष्य शब्दों के वश में हो जाता है.

समय दिखाई नहीं देता, लेकिन बहुत कुछ दिखा जाता है.

प्रीत ना करिये पछी समान जल सुखे उड़ जाये, प्रीत करिये मछली जैसी जल सुखे मर जाये.

You May Also Like

English News