एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का ये सच चौंका देगा आपको

दो तरह के होते हैं एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स

विशेषज्ञों की मानें तो एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर ख़ासकर दो तरह के होते हैं, पहला सेक्सुअल और दूसरा इमोशनल। सेक्सुअल एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर में दो ऐसे लोग कऱीब आते हैं, जो अपने-अपने पार्टनर से संतुष्ट नहीं होते और अपनी सेक्सुअल डिजायर को पूरा करना चाहते हैं। इमोशनल एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर दो लोग एक-दूसरे से भावनात्मक रूप से जुडऩे के लिए कऱीब आते हैं।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का ये सच चौंका देगा आपको
क्यों होता एक्स्ट्रा-मैरिटल अफेयर

महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों के एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर अधिक होते हैं। जहां महिलाओं की संख्या 12 फीसदी है, वहीं पुरुषों की संख्या 28 फीसदी है। शहरों की बात की जाए तो सबसे अधिक एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के मामले मुंबई में आए हैं। राजधानी दिल्ली दूसरे नंबर पर आती है।

ब्रेकअप के बाद एक्स पर ऐसे नजर रखती हैं लड़कियां

रिसर्च के अनुसार, अधिकांशत: महिलाएं इमोशनल अटैचमेंट यानी भावनात्मक ज़ुडाव के चलते एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की ओर कदम बढ़ाती हैं, जबकि पुरुष अक्सर सेक्सुअल डिजायर को पूरा करने के लिए ऐसा करते हैं।

थेरपिस्ट्स का कहना है कि उनके पास उन कपल्स का आना तेजी से बढ़ रहा है जो उस महिला या पुरुष के साथ आ रहे हैं जिनके साथ उनका एक्स्ट्रा-मैरिटल अफेयर है और ये अफेयर ज्यादातर मामलों में वर्कप्लेस पर शुरू होता है।

किसी के भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के बारे में सुनते ही अजीब सा लगता है। लेकिन अब लोग एक्स्ट्रा-मैरिटल अफेयर को लेकर थेरपिस्ट्स के पास जाने लगे हैं। थेरपिस्ट्स के मुताबिक इस तरह के कपल्स की संख्या पिछले कुछ सालों में तेजी से बढ़ी है।

 

 

 

You May Also Like

English News