एक तू ही न आया

कलियाँ खिलती हैं तो भँवरे चले आते हैं,
शम्मा जलती है तो परवाने चले आते हैं,
एक तू ही न आया जनाजे पर मेरे
जहाँ अपने तो क्या बेगाने भी चले आते हैं….एक तू ही न आया

You May Also Like

English News