एक बार फिर डोकलाम में चीन की हिमाकत, 1800 सैनिकों ने डाला डेरा, निर्माण कार्य भी जारी

भारत और चीन के बीच डोकलाम गतिरोध खत्म होने के बाद एक बार फिर ड्रैगन की नापाक कोशिशें सामने आ रही हैं. बताया जा रहा है कि विवादित क्षेत्र में चीनी सेना के करीब 1800 सैनिक जमे हुए हैं. इतना ही नहीं यहां बाकायदा निर्माण कार्य भी किए जा रहे हैं.एक बार फिर डोकलाम में चीन की हिमाकत, 1800 सैनिकों ने डाला डेरा, निर्माण कार्य भी जारीअभी-अभी: पाकिस्तान- 300 आतंकियों ने छोड़ी आतंक की राह….

भारतीय सुरक्षा सूत्रों के हवाले से लिखा है कि सिक्किम, भूटान-तिब्बत ट्राइजंक्शन के पास डोकलाम में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवान स्थाई रूप से रह रहे हैं. साथ ही चीनी सेना इलाके में दो हेलीपैड बना रही है. इसके अलावा सड़कों को अपग्रेड किया जा रहा है और शिविर भी बनाए जा रहे हैं.

सूत्रों ने दावा किया है कि भारत अब इस रणनीति पर पहुंच चुका है कि चीन को दक्षिणी क्षेत्र में सड़कों का विस्तार नहीं करने दिया जाएगा. बावजूद इसके चीनी सेना द्वारा सड़कों के निर्माण की जानकारी सामने आई है. 

बता दें भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सितंबर में आशंका जताई थी कि चीन विवादित क्षेत्र में ताकत आजमाने की कोशिश करता रहेगा. इसलिए चुंबी वैली में सैनिकों को तैनात किया गया है.

दरअसल, हर साल अप्रैल-मई और अक्टूबर से नवंबर के बीच चीनी सैनिक डोकलाम में आकर यहां अपना दावा ठोकते थे. इसी साल डोकलाम को लेकर दोनों देशों के बीच लंबा गतिरोध भी चला. भारत की संसद में भी ये मुद्दा गरमाया. भारत बिना किसी शर्त अपने सैनिक हटाने की जिद पर अड़ा रहा, जिसके बाद 28 अगस्त को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच टकराव खत्म हो गया.  लेकिन एक बार फिर चीनी सेना ने डोकलाम में हलचल पैदा कर दी है.

You May Also Like

English News