एक बार फिर संसद में दिखा अनुशासनहीनता का नज़ारा

जनता से जात-पात के नाम पर न लड़ने और देश में भाईचारा बनाए रखने की अपील करने वाले नेता, मंगलवार को संसद भवन में बच्चों की तरह लड़ते दिखे, नहीं, उन्हें बच्चे कहना भी ठीक नहीं होगा, क्योंकि संसद भवन में उनकी हरकतें देखकर तो स्कूल के बच्चे भी उनसे ज्यादा अनुशासित लगते है. एक बार फिर इसी का नमूना पेश किया बीजेपी विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और आम आदमी पार्टी के विधायकों ने.एक बार फिर संसद में दिखा अनुशासनहीनता का नज़ारा

बीजेपी विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा द्वारा सदन में दलित की बजाय छोटी जाति शब्द का इस्तेमाल करने पर आप विधायक भड़क गए और वेल में बीजेपी विधायक को घेरकर जमकर नारेबाज़ी की. यहाँ तक कि आम आदमी पार्टी के विधायकों ने बीजेपी पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाते हुए विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा को सस्पेंड करने की मांग की. 

दरअसल, सदन में वेतन न मिलने से परेशान होकर हड़ताल कर रहे सफाई कर्मियों की समस्याओं को लेकर चर्चा शुरू हुई थी. सत्ता पक्ष के विधायकों के साथ इस चर्चा में अकाली-बीजेपी गठबंधन के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा बोल रहे थे. उन्होंने गोविंद सिंह की भावनाओं का जिक्र करते हुए दलित के बजाय छोटी जाति शब्द का इस्तेमाल किया, जिसके बाद आप विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया. हालांकि विधानसभा अध्यक्ष ने इस शब्द को कार्यवाही से निकालने की बात कही लेकिन आम आदमी पार्टी के विधायकों द्वारा लगातार किए गए हंगामे के चलते दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने सदन को बुधवार दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया. इसके बाद आम आदमी पार्टी और बीजेपी विधायक सोशल मीडिया पर भी एक-दूसरे के खिलाफ बयानबाजी करते नजर आए. 

You May Also Like

English News