एक बार बीएचयू कैंपस में छात्रा से छेड़खानी, छात्र ने क्लासरूम के खीचकर बाहर निकाला

छात्रा से छेड़खानी के मामले को लेकर बीएचयू परिसर में शुरू हुआ बवाल अभी थमा भी नहीं है कि गुरुवार दोपहर फिर एक छात्रा छेड़खानी की शिकार हो गई। छेड़खानी की सूचना मिलते ही पूरे परिसर में सनसनी मच गई। विश्वविद्यालय सुरक्षाकर्मियों के माथे पर बल आ गए क्योंकि राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रेखा शर्मा विश्वविद्यालय में जांच के लिए पहुंचीं हैं।
समाजशास्त्र विभाग में छेड़खानी की शिकार हुई छात्रा ने इसकी शिकायत प्रॉक्टर के पास की। इसके बाद छात्रा ने लंका थाने में तहरीर दी। एमए थर्ड सेमेस्टर की छात्रा ने आरोप लगाया है कि एमए के छात्र शीतला गौंड ने क्लासरूम के बाहर उसे अपनी ओर खींचा।

 विरोध करने पर सबके सामने एक थप्पड़ मारा और हाथ में से मोबाइल लेकर पटक दिया। आरोपी को पुलिस ने हिरासत में ‌ले लिया है। इससे पहले   राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रेखा शर्मा ने गुरुवार सुबह बीएचयू पहुंच कर छात्राओं-शिक्षकों और पूर्व प्रॉक्टर से बयान लिया।

उन्होंने कहा है कि प्रो.जीसी त्रिपाठी दो दिन के अंदर स्वतः अपना बयान दर्ज कराएं नहीं तो उनको सम्मन भेजा जाएगा।  इधर, गुरुवार दोपहर बीएचयू पहुंचे योगेंद्र यादव ने छात्र और छात्राओं से संवाद किया।

बीएचयू के अंदर जाने की अनुमति नहीं मिली तो उन्होंने बीएचयू प्रशासन और जिला प्रशासन पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि मुझ निहत्थे को रोकने के लिए ये जो फौज बुलाई गई है अगर यही फौज बीएचयू के अंदर होती हमारी बेटियां और बहनें सुरक्षित रहतीं। वो यौन हिंसा और छेड़खानी की शिकार नहीं होतीं। 

 

You May Also Like

English News