एक महीने में तीसरी बार लखनऊ में तेंदुए की दहशत, युवक पर किया हमला

एक महीने के भीतर तीसरी बार फिर से बृहस्पतिवार को राजधानी लखनऊ तेंदुए की दहशत से घिर गई। चिनहट में इंदिरा नहर के पास स्थित गोयल अपार्टमेंट और उससे सटे इलाकों में तेंदुए के देखे जाने की सूचना आग की तरह फैल गई।एक महीने में तीसरी बार लखनऊ में तेंदुए की दहशत, युवक पर किया हमलाइलाकाई युवकों ने तेंदुए के हमले में एक युवक के जख्मी होने का दावा किया है। सीसीटीवी फुटेज में भी वन्यजीव को देखा गया है, लेकिन वन विभाग ने इसके तेंदुआ होने से इन्कार किया है। अफसरों का कहना है कि तेंदुआ नहीं बल्कि हिंसक वन्यजीव है।

लखनऊ-बाराबंकी सीमा के गोहलिया गांव की जुग्गौर ग्राम सभा के इलाकों और गोयल अपर्टामेंट के पास इलाके में बृहस्पतिवार की सुबह हिंसक वन्यजीव देखे जाने से दहशत फैल गई। इलाकाई लोगों का कहना है तेंदुए ने स्थानीय निवासी अतुल यादव पर पंजा मार उसे घायल कर दिया। मौके पर जुटे नागरिकों का कहना है कि वन्यजीव चिनहट स्थित गोयल अपार्टमेंट की ओर भागा।

गार्ड ने कहा, दीवार फांदकर अपार्टमेंट में कूदा

गोयल अपार्टमेंट में ड्यूटी कर रहे गनमैन रामपाल ने बताया कि तेंदुऐ जैसा दिखने वाला वन्यजीव लगभग पांच-सात फीट की दीवार फांदकर अपार्टमेंट परिसर में कूद गया। घटना की सूचना दोपहर बाद वन विभाग को दी गई।

सूचना मिलने पर रेंजर एमएस यादव, एसडीओ जेएल गुप्ता समेत अन्य स्टाफ मौके पर पहुंचे। टीम ने आसपास केइलाकों को खंगाला, लेकिन अंधेरा होने के चलते पगमार्क नहीं दिखे।

इस पर डीएफओ अवध मनोज कुमार सोनकर का कहना है कि चिनहट में एक अपार्टमेंट के पास के इलाकों में तेंदुआ देखे जाने की सूचना दोपहर में हमें मिली थी। दोपहर में ही रेंजर समेत स्टाफ की टीम रवाना की गई है। टीम को मुहैया कराई गई सीसीटीवी फुटेज में बृहस्पतिवार सुबह छह बजे के आसपास एक वन्यजीव दिख रहा है, पर फुटेज धुंधली है। ये लेपर्ड है या कुछ और अभी इस बारे में पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। हालांकि ये एक वन्यजीव ही है। हमने प्राणि उद्यान के विशेषज्ञों से इस बारे में मदद मांगी है। टीमें कॉबिंग कर शाम तक पगमार्क तलाश रही थीं, पर कोई निशान नहीं मिला। सुबह फिर टीमें जुटेंगी। 

You May Also Like

English News