एक साथ नहीं हो सकते लोकसभा-विधानसभा चुनाव : अमित शाह

इस समय भारतीय राजनीति का पूरा ध्यान कर्नाटक चुनाव पर केंद्रित है. वहीं इसी के बीच अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर भी चर्चाएं तेज हो गई है. सत्ता दल भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि लोकसभा-विधानसभा चुनाव एक साथ नहीं हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि सभी दलों की सहमति के बिना एक साथ चुनाव आयोजित कराना संभव नहीं हैं. अमित शाह ने इसके लिए देश के सभी राजनीतिक दलों से समर्थन की बात कही हैं. इस समय भारतीय राजनीति का पूरा ध्यान कर्नाटक चुनाव पर केंद्रित है. वहीं इसी के बीच अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर भी चर्चाएं तेज हो गई है. सत्ता दल भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि लोकसभा-विधानसभा चुनाव एक साथ नहीं हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि सभी दलों की सहमति के बिना एक साथ चुनाव आयोजित कराना संभव नहीं हैं. अमित शाह ने इसके लिए देश के सभी राजनीतिक दलों से समर्थन की बात कही हैं.   लोकसभा और विधानसभा चुनाव को लेकर पहले चर्चा थी कि यह एक साथ हो सकते है, लेकिन भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस बात को सिरे से ख़ारिज कर दिया हैं. हालांकि अमित शाह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने एक साथ चुनाव कराए जाने का विचार देश के सामने रखा है और इस पर चर्चा की बात कही है. शाह ने आगे कहा कि इस फैसले को चुनाव आयोग ने भी सुना है, इस मामले में सहमति बनने के बाद इसे आगे बढ़ाया जा सकता है. उन्होंने माना कि सभी दल एक साथ मिलकर आते हैं, तो यह कल ही लागू हो सकता हैं.   अमित शाह ने पत्रकारों से कर्नाटक चुनाव को लेकर भी बात कही. उन्होंने भरोसा जताते हुए कहा कि कर्नाटक में इस बार भाजपा सरकार बनाएंगी. बता दे कि कर्नाटक चुनाव में अब काफी कम समय बचा हुआ हैं, आगामी 12 मई को कर्नाटक में चुनाव होने है. और इसके बाद 15 मई को चुनाव के नतीजे भी घोषित कर दिए जाएंगे.

लोकसभा और विधानसभा चुनाव को लेकर पहले चर्चा थी कि यह एक साथ हो सकते है, लेकिन भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस बात को सिरे से ख़ारिज कर दिया हैं. हालांकि अमित शाह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने एक साथ चुनाव कराए जाने का विचार देश के सामने रखा है और इस पर चर्चा की बात कही है. शाह ने आगे कहा कि इस फैसले को चुनाव आयोग ने भी सुना है, इस मामले में सहमति बनने के बाद इसे आगे बढ़ाया जा सकता है. उन्होंने माना कि सभी दल एक साथ मिलकर आते हैं, तो यह कल ही लागू हो सकता हैं. 

अमित शाह ने पत्रकारों से कर्नाटक चुनाव को लेकर भी बात कही. उन्होंने भरोसा जताते हुए कहा कि कर्नाटक में इस बार भाजपा सरकार बनाएंगी. बता दे कि कर्नाटक चुनाव में अब काफी कम समय बचा हुआ हैं, आगामी 12 मई को कर्नाटक में चुनाव होने है. और इसके बाद 15 मई को चुनाव के नतीजे भी घोषित कर दिए जाएंगे. 

You May Also Like

English News