इन विश्वविद्यालयो में जल्द शुरू हो सकते है एमए और बीएससी में यह कोर्स

राजधानी के विक्रमादित्य मार्ग स्थित अवध गर्ल्स डिग्री कॉलेज में एमए अंग्रेजी और महोना स्थित महामाया राजकीय महाविद्यालय में बीएससी पाठ्यक्रम चलाने की अनुमति मिलना लगभग तय है। 
 
 
इन विश्वविद्यालयो में जल्द शुरू हो सकते है एमए और बीएससी में यह कोर्स
 
लखनऊ विश्वविद्यालय की कार्य परिषद बैठक में सोमवार को इन दोनों कॉलेजों के मामले समिति के अनुमोदन के लिए रखे जाएंगे। कुलपति प्रो. एसबी निमसे की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में इसके अलावा भी कई विद्यालयों में पाठ्यक्रमों की अस्थाई संबद्धता का मुद्दा रखा जाएगा। 

बैठक में राष्ट्रीय और राज्य सम्मान से सम्मानित शिक्षकों को दो वर्ष का सेवा विस्तार देने संबंधी प्रस्ताव भी रखा जाएगा।
महोना क्षेत्र में महामाया राजकीय महाविद्यालय के अलावा कोई दूसरा राजकीय या अनुदानित विद्यालय नहीं है।

इस विद्यालय में अभी तक बीएससी की पढ़ाई नहीं होती थी। इस वजह से क्षेत्र के स्टूडेंट्स के पास महंगे निजी कॉलेजों में एडमिशन लेना पड़ता है। दूसरा विकल्प 20 किलोमीटर की दूरी तय करके शहर के कॉलेजों में दाखिला लेने का है। 
 

शैक्षिक अवकाश और वेतन संबंधी मामले भी रखे जाएंगे
इस समस्या को देखते हुए शासन ने राजकीय महामाया महाविद्यालय मे इस साल से बीएससी पाठ्यक्रम शुरू करने के निर्देश दिए थे। एलयू ने कॉलेज में बीएससी पाठ्यक्रम में दाखिले की अनुमति दे दी थी। 

कार्य परिषद ने अभी तक इसे अपनी मंजूरी नहीं दी है। इसलिए कार्य परिषद के सामने सोमवार को यह मामला रखा जाएगा। दूसरी ओर अवध गर्ल्स डिग्री कॉलेज में शैक्षिक सत्र 2017-18 से दो वर्ष के लिए एमए अंग्रेजी पाठ्यक्रम की अस्थायी सहयुक्तता देने का प्रस्ताव भी कार्य परिषद के सामने रखा जाएगा। 

बैठक में इसके अलावा गोसाईंगंज स्थित लाला गणेश प्रसाद गर्ल्स डिग्री कॉलेज में एमए गृह विज्ञान की स्थायी सहयुक्तता देने का मामला भी रखा जाएगा। 
चारबाग स्थित गुरु नानक गर्ल्स डिग्री कॉलेज को सेल्फ फाइनेंस योजना के अंतर्गत बीबीए पाठ्यक्रम चलाने के लिए शैक्षिक सत्र 2017-18 से अनुमति देने का प्रस्ताव भी कार्य परिषद के सामने रखा जाएगा। कार्य परिषद बैठक में इसके अलावा शिक्षकों के शैक्षिक अवकाश और वेतन संबंधी मामले भी रखे जाएंगे।

 

You May Also Like

English News