एयरलाइंस खत्म करेगा बोइंग 777 से फर्स्ट क्लास सीटें, कॉस्ट कटिंग के लिए लिया फैसला

विश्व के सबसे बड़े विमानों में शुमार बोइंग 777 में से अब भारत की इस एयरलाइंस कंपनी ने फर्स्ट क्लास सीटें हटा ली है। कंपनी ने कॉस्ट कटिंग के चलते यह फैसला लिया है। 
एयरलाइंस खत्म करेगा बोइंग 777 से फर्स्ट क्लास सीटें, कॉस्ट कटिंग के लिए लिया फैसलाबढ़ाएगा बिजनेस और इकोनॉमी क्लास की सीटें
देश की बड़ी एयरलाइंस कंपनियों में शुमार जेट एयरवेज अब अपने सभी बोइंग 777 विमानों में फर्स्ट क्लास की सीट खत्म करके उनकी जगह बिजनेस क्लास व इकोनॉमी क्लास में सीटों को बढ़ाएगा। अभी प्रत्येक प्लेन में 8 फर्स्ट क्लास, 30 बिजनेस क्लास और 308 इकोनॉमी क्लास सीटें होती हैं। इस हिसाब से कुल मिलाकर एक बार में 346 यात्री सफर कर सकते हैं। 

बिजनेस, इकोनॉमी क्लास में टिकट बुकिंग सबसे ज्यादा
एयरलाइंस के मुताबिक ज्यादातर लोग बिजनेस और इकोनॉमी क्लास में सबसे ज्यादा सफर करते हैं। 2019 के बाद से कंपनी में इन दोनों क्लास में सीटें बढ़ जाएंगी। ऐसा करने में कितना खर्चा आएगा, उसके बारे में जेट एयरवेज ने जानकारी देने से मना कर दिया है। 

250 करोड़ की होगी बचत

कंपनी जनवरी 2019 से अपने मेंटिनेंस खर्च के अलावा सेल्स और डिस्ट्रीब्यूशन की कॉस्ट में कमी करेगी। इससे सालाना उसे 250 करोड़ रुपये की बचत होगी। 

जेट के पास हैं इतने विमान
जेट एयरवेज के पास फिलहाल 110 विमान हैं, जिनमें बी777-300, ए330-200/300, बी737 और एटीआर 72-500/600 शामिल हैं। इसके अलावा कंपनी का 21 एयरलाइंस के साथ कोड शेयरिंग एग्रीमेंट व 107 इंटरलाइन पार्टनर के साथ में करार है। 

 

You May Also Like

English News