एशियाई बास्केटबॉल चैंपियनशिप में भारत का नेतृत्व करेंगी जेना

भारतीय टीम इंडोनेशिया में होने वाले एशियाई खेलों में भाग लेने के लिए तैयार है,  स्मृति राधाकृष्णन के बाद जीना बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय खेल में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली दूसरी केरल की खिलाड़ी होंगी. जेना से पहले, स्मृति राधाकृष्ण 2014 में वैश्विक स्तर पर टीम का नेतृत्व करने वाले पहली केरल की खिलाड़ी थीं, वे रेलवे के लिए खेलती थीं.भारतीय टीम इंडोनेशिया में होने वाले एशियाई खेलों में भाग लेने के लिए तैयार है,  स्मृति राधाकृष्णन के बाद जीना बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय खेल में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली दूसरी केरल की खिलाड़ी होंगी. जेना से पहले, स्मृति राधाकृष्ण 2014 में वैश्विक स्तर पर टीम का नेतृत्व करने वाले पहली केरल की खिलाड़ी थीं, वे रेलवे के लिए खेलती थीं.  युथ ओलिंपिक में पहली बार दिखेगा भारत की जूनियर हॉकी टीमों का जलवा    एशियाई खेलों में भारत को अग्रणी स्थान दिलाने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि वे इस अवसर पर भारतीय टीम का नेतृत्व करने के लिए बहुत आभारी हैं, उन्होंने आगे कहा कि वे समूह के चरणों से फाइनल तक के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगी. उन्होंने कहा कि अगर देखा जाए तो इंडोनेशिया इस खेल में सबसे आसान प्रतिद्वंदी है, लेकिन वो इस खेल का मेज़बान भी है, अगर हम उन्हें हरा देते हैं तो भारतीय टीम के लिए ये आत्मविश्वास को बढ़ाने वाला होगा, साथ ही इससे भारत के लिए प्रतियोगिता में आगे जाने का रास्ता खुलेगा.  लॉर्ड्स टेस्ट : क्रिकेट के मक्का पर भारत की पहले बल्लेबाजी    आपको बता दें कि जेना ने केरल की महिला टीम के उत्थान के लिए अहम् योगदान दिया है, ये जेना की ही मेहनत का नतीजा हैं कि केरल की महिला टीम ने 32 सालों के लम्बे इंतज़ार के बाद राष्ट्रिय बास्केटबॉल प्रतियोगिता में चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया है.

एशियाई खेलों में भारत को अग्रणी स्थान दिलाने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि वे इस अवसर पर भारतीय टीम का नेतृत्व करने के लिए बहुत आभारी हैं, उन्होंने आगे कहा कि वे समूह के चरणों से फाइनल तक के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगी. उन्होंने कहा कि अगर देखा जाए तो इंडोनेशिया इस खेल में सबसे आसान प्रतिद्वंदी है, लेकिन वो इस खेल का मेज़बान भी है, अगर हम उन्हें हरा देते हैं तो भारतीय टीम के लिए ये आत्मविश्वास को बढ़ाने वाला होगा, साथ ही इससे भारत के लिए प्रतियोगिता में आगे जाने का रास्ता खुलेगा.

आपको बता दें कि जेना ने केरल की महिला टीम के उत्थान के लिए अहम् योगदान दिया है, ये जेना की ही मेहनत का नतीजा हैं कि केरल की महिला टीम ने 32 सालों के लम्बे इंतज़ार के बाद राष्ट्रिय बास्केटबॉल प्रतियोगिता में चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया है.

You May Also Like

English News