एसएससी परीक्षाओं की अनियमितता की जाँच हो – सुप्रीम कोर्ट

 सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिए हैं कि वह एसएससी परीक्षाओं में भ्रष्टाचार और अनियमितता की जांच करें. कोर्ट ने याचिकाकर्ता प्रशांत भूषण को पूरे मामले के ड्राफ्ट एक सप्ताह में देने तथा केंद्र सरकार को इस मामले में 6 सप्ताह में में उठाए गए मुद्दों पर आदेश जारी करने के निर्देश दिए.नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिए हैं कि वह एसएससी परीक्षाओं में भ्रष्टाचार और अनियमितता की जांच करें. कोर्ट ने याचिकाकर्ता प्रशांत भूषण को पूरे मामले के ड्राफ्ट एक सप्ताह में देने तथा केंद्र सरकार को इस मामले में 6 सप्ताह में में उठाए गए मुद्दों पर आदेश जारी करने के निर्देश दिए.  आपको बता दें कि एसएससी से जुड़ी इस याचिका में मुख्यतः पारदर्शिता , पृष्भूमि की जाँच,परीक्षा केंद्रों की स्थिति, ऑनलाइन केंद्रों की जानकारी, प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका के लीक होने की जांच के मुद्दों को शामिल किया गया है. इसके अलावा जिन साफ्टवेयरों से कॉपियों की जांच की जाती है, उनकी गुणवत्ता को सुधारने की भी मांग की गई है.  गौरतलब है कि एसएससी टियर2 परीक्षा 17 से 22 फरवरी के बीच ऑनलाइन हुई थी. परीक्षा के प्रश्न पत्र और उत्तरपुस्तिका लीक हो गई थी. जिसके बाद एसएससी अभ्यर्थियों ने देशभर में प्रदर्शन कर परीक्षा में हुई धांधली और पेपर लीक का कारण कर्मचारी चयन आयोग में फैले भ्रष्टाचार को मुख्य कारण माना गया था. बता दें कि कर्मचारी चयन आयोग केंद्रीय कार्यालयों के विभिन्न विभागों में रिक्त पदों के लिए परीक्षा आयोजित करता है.लेकिन अनियमितता और अव्यवस्थाओं से इसकी साख पर असर पड़ा है.

आपको बता दें कि एसएससी से जुड़ी इस याचिका में मुख्यतः पारदर्शिता , पृष्भूमि की जाँच,परीक्षा केंद्रों की स्थिति, ऑनलाइन केंद्रों की जानकारी, प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका के लीक होने की जांच के मुद्दों को शामिल किया गया है. इसके अलावा जिन साफ्टवेयरों से कॉपियों की जांच की जाती है, उनकी गुणवत्ता को सुधारने की भी मांग की गई है.

गौरतलब है कि एसएससी टियर2 परीक्षा 17 से 22 फरवरी के बीच ऑनलाइन हुई थी. परीक्षा के प्रश्न पत्र और उत्तरपुस्तिका लीक हो गई थी. जिसके बाद एसएससी अभ्यर्थियों ने देशभर में प्रदर्शन कर परीक्षा में हुई धांधली और पेपर लीक का कारण कर्मचारी चयन आयोग में फैले भ्रष्टाचार को मुख्य कारण माना गया था. बता दें कि कर्मचारी चयन आयोग केंद्रीय कार्यालयों के विभिन्न विभागों में रिक्त पदों के लिए परीक्षा आयोजित करता है.लेकिन अनियमितता और अव्यवस्थाओं से इसकी साख पर असर पड़ा है.

You May Also Like

English News