ऐसा क्या हुआ कि पूरा परिवार पहुंच गया विधानसभा आत्मदाह करने , पढि़ए

लखनऊ : गोमतीनगर इलाके में रहने वाली एक विधवा अपने बेटे व दो बेटियां संग शनिवार की दोपहर विधानसभा पहुंच गयी। इसके बाद उन लोगों ने आत्मदाह करने की कोशिश की पर वहां पहले से ही मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन लोगों को पकड़ लिया। सूचना पर पहुंची हजरतगंज पुलिस उन लोगों को लेकर हजरतगंज कोतवाली आ गयी।


सीओ हजरतगंज अवनीश कुमार ने बताया कि गोमतीनगर के उजरियांव गांव में रूकसाना नाम की एक विधवा अपने परिवार के साथ रहती है। बताया जाता है कि रूकसाना का गांव के ही रहने वाले कुछ लोगों से एक जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। उक्त जमीन का विवाद कोर्ट में विचाराधीन है। बीते 17 जनवरी को इसी विवाद को लेकर दोनों पक्षों के बीच कहासुनी और मारपीट हुई थी। इस घटना को लेकर गोमतीनगर थाने में दोनों पक्षों में रिपोर्ट दर्ज करायी थी। शनिवार की दोपहर रूकसान, अपने बेटे फैज व दो बेटियां को लेकर विधानसभा पहुंच गयी।

बताया जाता है कि वहां पर उन लोगों ने आत्मदाह करने की कोशिश की पर वहां पहले से ही मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन लोगों को आत्मदाह करने से रोकते हुए पकड़ लिया। पुलिस कर्मियों ने फौरन इस बात की सूचना हजरतगंज पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर हजरतगंज पुलिस और सीओ भी विधानसभा के सामने पहुंच गये। पुलिस ने सभी को मौके से पकड़ा और हजरतगंज कोतवाली ले गये। रूकसाना और उसके परिवार वालों का आरोप है कि दबंगों ने उनकी जमीन पर कब्जा कर रहा है। पुलिस से शिकायत के बावजूद भी उन लोगों को न्याय नहीं मिला।
सीओ गोमतीनगर पहुंचे गांव, दोनों पक्षों को दी हिदायत
इस बारे में जब सीओ गोमतीनगर सत्यसेन यादव से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि दोनों पक्षों के बीच जमीन का विवाद है और कोर्ट में उक्त मामला विचाराधीन है। ऐसे में पुलिस अपनी तरह से जमीन के मामले में कुछ नहीं कर सकती है। वहीं 17 जनवरी को दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी। इस घटना की एफआईआर दर्ज है और पुलिस छानबीन कर रही है। परिवार के विधानभवन के सामने आत्मदाह की सूचना के बाद सीओ गोमतीनगर उजरियांव गांव पहुंचे और दोनों पक्षों से बातचीत करते हुए इस बात की हिदायत दी कि कोई भी पक्ष इस मामले में कोई गैर कानूनी काम नहीं करेगा, वरना उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

You May Also Like

English News