ओपन लेटर लिख कंगना ने दिया जवाब- अगर सैफ सही होते तो मैं अभी किसान होती

आईफा अवॉर्ड्स के दौरान कंगना रनोट और नेपोटिज्म को लेकर किए गए मजाक पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. एक इंटरव्यू में सैफ ने नेपोटिज्म के विषय पर ‘आनुंवांशिकी’ और ‘युजनिक्स’ की बात की थी, जिस पर उन्हें आलोचना का शिकार होना पड़ा था. विवाद को बढ़ता देख सैफ ने एक ओपन लेटर लिख मीडिया पर इस मामले को तूल देने का आरोप लगाया है. सैफ ने कहा कि मुझे माफ करें कि आपने ‘युजनिक्स’ शब्द का गलत मतलब निकाला. मुझे लगता है कि लोगों को अपना दिमाग एक्ट्रेसेज के कपड़ों से हटाकर अपने भाषा को सुधारने में लगाना चाहिए.

ओपन लेटर लिख कंगना ने दिया जवाब- अगर सैफ सही होते तो मैं अभी किसान होती

सैफ ने डीएनए में प्रकाशित ओपन लेटर में लिखा, आईफा के दौरान नेपोटिज्म पर की गई बातें मजाक थीं. इसे इतना बढ़ाने की जरूरत नहीं थी. मैंने कंगना से पर्सनली माफी मांग ली थी. इसलिए वो बात वहीं खत्म हो जानी चाहिए थी. अब सैफ के ओपन लेटर का जवाब देते हुए कंगना ने भी एक ओपन लेटर लिखा है. मिड डे में प्रकाशित इस ओपन लेटर में कंगना ने लिखा- सैफ, आपने अपने लेटर में लिखा था कि ‘मैंने कंगना से माफी मांग ली है और अब मुझे किसी को कोई सफाई देने की जरूरत नहीं है. यह मुद्दा अब खत्म हो चुका है.’ लेकिन यह मुद्दा अकेले मेरा नहीं है.

परिवारवाद कई स्तरों पर निष्पक्षतावाद और तर्क को समझ नहीं पाता. मैंने अपने जीवन मूल्यों को उन लोगों से सीखा है, जो अपनी जिंदगी में बहुत सफल रहे हैं.

विवेकानंद, आइंसटाइन और शेक्सपीयर किसी वर्ग से संबंध नहीं रखते. उनके विचार संपूर्ण मानवता के हैं. उनके काम ने हमारे भविष्य को सवारा है और आगे आने वाली पीढ़ी के भविष्य को भी सवारेंगे.

सैफ आपने अपने लेटर के एक हिस्से में अनुवांशिकी और स्टार किड्स के संबंध के बारे में लिखा है. क्या आप यह कहना चाहते हैं कि कलात्मक कौशल, मेहनत, अनुभव, उत्साह, उत्सुकता, अनुशासन और प्यार पारिवारिक जीन से आता है. अगर आपका यह तर्क सही होता तो मैं अभी एक किसान होती. मुझे समझ नहीं आता कि मेरे जीन पूल से किस जीन ने मुझे मेरे पंसदीदा काम को करने की क्षमता दी.

जानें क्या था पूरा मामला

करण जौहर, सैफ अली खान और वरुण धवन ने न्यूयॉर्क में IIFA अवॉर्ड के मंच पर कंगना का मजाक उड़ाया था. इस अवॉर्ड फंक्शन को करण जौहर और सैफ होस्ट कर रहे थे और तभी एक मौके पर जब वरुण धवन स्टेज पर बेस्ट एक्टर कॉमिक रोल का अवॉर्ड लेने कि लिए पहुंचे तभी सैफ अली खान ने कहा नेपोटिज्म यानी भाई भतीजा की बात छेड़ते हुए कहा, ‘आज तुम जो भी हो सिर्फ अपने पिता की वजह से हो’. इस पर वरुण धवन ने सैफ को जवाब दिया और आप जो भी है अपनी मां शर्म‍िला टैगोर की वजह से हैं.’

बात यहीं नहीं थमी, फिर करण जौहर ने कहा, ‘मैं इस इंडस्ट्री में अपने पिता की बदौलत हूं’ और फिर तीनों ने जोर से कहा ‘नेपोटिस्म रॉक्स’. सैफ और वरुण ने करण जौहर की फिल्म ‘कभी खुशी कभी गम’ का गाना गाते हुए कहा ‘बोले चूड़ियां बोले कंगना’ जिस पर करण जौहर ने तपाक से कहा ‘कंगना ना ही बोले तो अच्छा है.’ लेकिन अब सैफ अली खान ने माफी मांग ली है और वरुण धवन ने ट्वीट के जरिए माफी मांगी. तो उम्मीद है ये विवाद अब थम जाएगा.

You May Also Like

English News