ओसामा के मरने पर यह था पाकिस्तान का रवैया

अमेरिकी बलों ने दो मई 2011 को पाकिस्तानी सीमा में घुसकर अल कायदा के पूर्व प्रमुख ओसामा को मार गिराया था लेकिन इस पर अब एक बड़ा खुलासा हुआ है. इस बात पर पाकिस्तान का जवाब बड़ा ही हैरानी करने वाला था. अमेरिकी बलों ने दो मई 2011 को पाकिस्तानी सीमा में घुसकर अल कायदा के पूर्व प्रमुख ओसामा को मार गिराया था लेकिन इस पर अब एक बड़ा खुलासा हुआ है. इस बात पर पाकिस्तान का जवाब बड़ा ही हैरानी करने वाला था.      बताया जाता है इस अटैक के बाद राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जब अपने पाकिस्तानी समकक्ष आसिफ अली जरदारी को सूचित किया कि अमेरिकी बलों ने ऐबटाबाद में ओसामा बिन लादेन के अड्डे  पर घुसकर उसे मार गिराया है तो उन्होंने ओबामा से कहा कि यह ‘अच्छी खबर’ है. बता दें कि जरदारी की पत्नी और प्रतिष्ठित नेता बेनजीर भुट्टो की पाकिस्तान के चरमपंथियों ने 27 दिसंबर 2007 को हत्या कर दी थी जिसके बाद से जरदारी पाकिस्तान की राजनीति में मुख्य भूमिका में आ गए थे.    बता दें की व्हाइट हाउस में ओबामा के करीबी सहयोगी रहे बेन रोड्स ने अपनी नई किताब में इस किस्से को खुलकर सामने रखा है. बेन रोड्स की इस नई किताब के मुताबिक जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस बारे में जानकारी देने के लिए जरदारी को फोन किया तो ‘‘जरदारी ने बराक ओबामा से कहा कि जो भी नतीजा हो, यह बहुत अच्छी खबर है. अल्लाह आपके और अमेरिकी लोगों के साथ है.’’

बताया जाता है इस अटैक के बाद राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जब अपने पाकिस्तानी समकक्ष आसिफ अली जरदारी को सूचित किया कि अमेरिकी बलों ने ऐबटाबाद में ओसामा बिन लादेन के अड्डे  पर घुसकर उसे मार गिराया है तो उन्होंने ओबामा से कहा कि यह ‘अच्छी खबर’ है. बता दें कि जरदारी की पत्नी और प्रतिष्ठित नेता बेनजीर भुट्टो की पाकिस्तान के चरमपंथियों ने 27 दिसंबर 2007 को हत्या कर दी थी जिसके बाद से जरदारी पाकिस्तान की राजनीति में मुख्य भूमिका में आ गए थे.

बता दें की व्हाइट हाउस में ओबामा के करीबी सहयोगी रहे बेन रोड्स ने अपनी नई किताब में इस किस्से को खुलकर सामने रखा है. बेन रोड्स की इस नई किताब के मुताबिक जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस बारे में जानकारी देने के लिए जरदारी को फोन किया तो ‘‘जरदारी ने बराक ओबामा से कहा कि जो भी नतीजा हो, यह बहुत अच्छी खबर है. अल्लाह आपके और अमेरिकी लोगों के साथ है.’’ 

You May Also Like

English News