कई बार धरती पर नजर आ चुके हैं ये रहस्य मयी जीव, लोग नहीं भूल पाए इनका चेहरा

दुनिया में कई तरह के रहस्य, कहानियां हैं जिन्हें आज तक कोई सुलझा नहीं पाया है। कुछ को अफवाहें मान कर भुला दिया गया तो कुछ समय के साथ बदलती गईं। जलपरियां, वैम्पायर्स, वॉल्वरीन, यूएफओ जैसी कई अनसुलझी पहेलियां हैं जो वक्त के साथ खबरों में आती रहती हैं। इनसे अलग कुछ ऐसे भी रहस्य हैं जिन्हें आज तक ना ही कोई समझ पाया है और ना ही सुलझा पाया है।

कई बार धरती पर नजर आ चुके हैं ये रहस्य मयी जीव, लोग नहीं भूल पाए इनका चेहराबिगफुट
अमेरिका के 26वें राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट ने अपनी किताब ‘दी वाइल्डरनेस हंटर’ में जिक्र किया है कि एक हंटिंग ट्रिप के दौरान उन्हें एक आदमी मिला था जिसने उन्हें एक कहानी सुनाई थी। उस आदमी का कहना था कि जंगल में एक बीस्ट घूम रहा है जिसने उसके दोस्त की हत्या कर दी थी। हालांकि ये कोई पहला मामला नहीं है, कई लोगों ने इस बीस्ट को देखने का दावा किया है।

क्या आप जानते हैं ‘गुलाबी झील’ का सच, हैरान कर देंगी तस्वीरें

लॉच नेस मॉन्सटर
स्कॉटलैंड की झील लॉच नेस में एक रहस्मयी जीव को देखा जाता है। कहा जाता है कि यह बात 1500 साल से भी पुरानी है लेकिन 1993 के बाद से इसको ज्यादा देखा गया। 1933 में जॉन मैकेय और उनकी पत्नी ने झील में एक जीव देखने की बात कही थी जो काफी खतरनाक दिखता था।
 
चुपाकाबरा
चुपाकाबरा की कहानियां मेक्सिको और टेक्सस में काफी प्रसिद्ध हैं। चुपाकाबरा 4 से 5 इंच के एक जीव को कहा जाता है जिसके पैर बहुत मजबूत और आंखें एकदम लाल हैं। लैटिन अमेरिकन्स मानते हैं कि यह अमेरिकी सरकार के प्रयोगों का असर है जो वह उनके जंगलों में कर रही है।

दी जर्सी डेविल
न्यू जर्सी में जर्सी डेविल का खौफ कभी इस कदर था कि स्कूल तक बंद हो गए थे और लोग दुबक कर अपने-अपने घरों में छुप गए थे। लोगों का कहना है कि एक वक्त उन्होंने यहां एक कंगारू जैसे दिखने वाले जीव को देखा था जो उड़ भी सकता था।

दी जर्सी डेविल
न्यू जर्सी में जर्सी डेविल का खौफ कभी इस कदर था कि स्कूल तक बंद हो गए थे और लोग दुबक कर अपने-अपने घरों में छुप गए थे। लोगों का कहना है कि एक वक्त उन्होंने यहां एक कंगारू जैसे दिखने वाले जीव को देखा था जो उड़ भी सकता था।

मॉथमैन
वेस्ट वर्जिनिया में खुदाई करते वक्त कुछ लोगों ने अपने ऊपर एक आदमी को उड़ता हुआ देखा जिसके काफी बड़े पंख थे और आंखें एकदम सुर्ख लाल। वहां के लोगों ने लगभग एक साल तक इस जीव को देखा। 1957 में ‘दी मॉथमैन प्रोफेसिस’ नाम की एक किताब भी आई थी जिसपर रिचर्ड गेयर की फिल्म आधारित है।

 
 
 

You May Also Like

English News