कत्ल कर छोडा सन्देश- राष्ट्रविरोधियों और काला धन वालों को ऐसे ही मारेंगे, कर लो जो करना है…

दिल्ली पुलिस को सोमवार (17 जुलाई) रात को एक 32 वर्षीय कारोबारी के शव के पास से एक पर्चा मिला जिस पर लिखा था, “यहां ड्रग तस्कर हैं, देशद्रोही हैं, भ्रष्ट डॉक्टर हैं, जुआड़ी हैं, कालेधन वाले हैं और महिलाओं पर हमला करने वाले या उनके रेप करने वाले हैं, ये सब हमारे निशाने पर हैं। अगर उन्होंने अपना रास्ता नहीं बदला तो हम आधुनिक हाई-टेक हथियारों से उनकी एक-एक कर हत्या कर देंगे।” मारे गए कारोबारी की पहचान 32 वर्षीय विकास उर्फ विक्की के रूप में हुई है। विकास की द्वारका सेक्टर 22 स्थित अपने घर लौटते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई। शव के साथ मिले पर्चे पर दस्तखत की जगह “जय हिन्द जय भारत” लिखा हुआ था। पर्चे में लिखा हुआ था कि पुलिस की मदद के लिए ये संदेश छोड़ा जा रहा है।कत्ल कर छोडा पर्चा- राष्ट्रविरोधियों और काला धन वालों को ऐसे ही मारेंगे, कर लो जो करना है...

पुलिस सूत्रों के अनुसार पर्चे पर लिखा था, “हम नाइंसाफी को दुरस्त करना चाहते हैं। अगर इसके लिए युद्ध की जरूरत है तो वही सही।” पुलिस के अनुसार हमलावरों ने इस पर्चे पर अपना नाम भी लिखा है। पुलिस द्वारा की गई प्राथमिक जांच से पता चला है कि कुछ दिन पहले बढ़ा गांव के 25 वर्षीय दुकानदार हेमंत कुमार की चार हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस के अनुसार हेमंत के हत्यारे सिल्वर रंग की वर्ना कार में सवार थे। सूत्रों के अनुसार एक हमलावर की बहन ने हेमंत के खिलाफ साल 2006 में यौन उत्पीड़न का केस दर्ज कराया था।

शिकायत के बाद पुलिस ने हेमंत को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन हाल ही में वो विकास की मदद से जमानत पर छूटा था। विकास की सोमवार को हत्या कर दी गई। दिल्ली पुलिस के डीसीपी (साउथ-वेस्ट) सुरेंद्र कुमार ने ऐसी पर्चा मिलने की पुष्टि की। डीसीपी सुरेंद्र कुमार के अनुसार, “सोमवार को रात 9.45 के करीब विक्की घर आ रहा था तभी उस पर हमला हुआ। चार बाइक सवारों ने उसकी गाड़ी को ट्रैफिक सिग्नल पर रोका और उसे खींचकर पास की झाड़ी में ले गए और उस पर करीब से गोलियां चला दीं। अपराध के बाद चार हमलावर फरार हो गए।”

शव के पास मिली पर्चे में हमलावरों ने कई अन्य हत्याओं की जिम्मेदारी ली है। हमलावरों ने गैंगेस्टर और डकैत महेश, गैंगेस्टर बिंदर गुज्जर के बड़े भाई, नजफगढ़ के किसी पुनीत और बढ़ा गांव के हेमंत की हत्या की जिम्मेदारी ली है। पुलिस अभी इस बात की जांच कर रही है कि ये पर्चा केवल हत्याओं की जांच भटकाने के लिए लिखा गया है या सचमुच कोई गिरोह इस तरह की घटनाओं में लिप्त है।

You May Also Like

English News