कर्नाटक कांग्रेस में दंगल जारी, राहुल लेंगे आखिरी फैसला

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की साझा सरकार बनने के बाद सियासी ड्रामा जारी है. कांग्रेस के कोटे से बने मंत्रियों ने शपथ लिए हुए 6 दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक विभागों का बंटवारा पूरा नहीं हो सका. 6 विभाग अभी बांटे नहीं जा सके हैं. इसके अलावा कई वरिष्ठ नेता हैं जो मंत्री न बनाए जाने के चलते भी नाराज चल रहै हैं आर साथ ही प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर अभी तक मुहर नहीं लग सकी है. इसे लेकर कांग्रेस नेताओं में असंतोष बना हुआ है.कर्नाटक कांग्रेस में दंगल जारी, राहुल लेंगे आखिरी फैसला

लिंगायत समुदाय के नेता एमबी पाटिल मंत्री न बनाए जाने के चलते नाराज चल रहे हैं. वे अपनी रणनीति बनाने के लिए बेंगलुरु में आज कई नेताओं से मुलाकात करेंगे. इससे पहले पाटिल सहित राज्य के असंतुष्ट पार्टी विधायकों ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी. हालांकि इस मुलाकात कोई समाधान नहीं निकल सका.

राहुल से मुलाकात के बाद एमबी पाटिल अपने क्षेत्र बीजापुर चले गए थे. वह आज शाम बेंगलुरु वापस आएंगे और माना जा रहा है कि अपने नजदीकियों के साथ बैठक करेंगे. जबकि पाटिल दिल्ली से लौटने के बाद से किसी भी असंतुष्ट विधायकों से मुलाकात नहीं की है.

कर्नाटक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को लेकर भी संदेह बना हुआ है. राज्य के कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव के नाम पार्टी के वरिष्ठ नेता संतुष्ठ नहीं है. जबकि कर्नाटक के पार्टी प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने प्रदेश अध्यक्ष के नामों की शार्ट लिस्ट किया है. इस सूची को राहुल को सौंपेगे, जिसे बाद वे और पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रदेश अध्यक्ष के नाम को अंतिम रूप देंगे.

राहुल के मुंबई दौरे के बाद संभावना है कि वेणगुपोल प्रदेश अध्यक्ष के नामों को सूची को सौंपेंगे. जबकि इससे पहले राहुल ने दिनेश गुंडू राव को प्रदेश अध्यक्ष बनाने का मन बनाया था.

You May Also Like

English News