कर्नाटक चुनाव: मुख्यालय पहुंचे राहुल गाँधी, कर सकते हैं प्रेस कॉन्फ्रेंस

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 222 सीटों पर वोटिंग शुरू हो गई है. सुबह से पोलिंग बूथों पर मतदान के लिए लोगों की भीड़ दिख रही है. 224 विधानसभा सीटों वाले राज्य में 2 सीटों पर मतदान स्थगित कर दिया गया है. सभी राजनेताओं की नज़र इस चुनाव पर बनी हुई है. वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अपनी पार्टी के मुख्यालय पहुँच गए हैं. बताया जा रहा है, कि वे थोड़ी देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर सकते हैं.कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 222 सीटों पर वोटिंग शुरू हो गई है. सुबह से पोलिंग बूथों पर मतदान के लिए लोगों की भीड़ दिख रही है. 224 विधानसभा सीटों वाले राज्य में 2 सीटों पर मतदान स्थगित कर दिया गया है. सभी राजनेताओं की नज़र इस चुनाव पर बनी हुई है. वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अपनी पार्टी के मुख्यालय पहुँच गए हैं. बताया जा रहा है, कि वे थोड़ी देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर सकते हैं.  इससे पहले आज सुबह ही राहुल गांधी ने कन्नड़ में ट्वीट कर कर्नाटक के मतदाताओं से वोट डालने की अपील की. उन्होंने कहा, 'मतदान गतिशील लोकतंत्र का संकेत है. मैं अपने सभी युवा मित्रों का स्वागत करता हूं, जो कर्नाटक में पहली बार मतदान कर रहे हैं. कर्नाटक के लोग बड़ी संख्या में लोकतंत्र के इस त्यौहार में शामिल हों.'  आपको बता दें कि कर्नाटक चुनाव के लिए राहुल गाँधी ने काफी मेहनत की है, क्योंकि यह 2019 चुनावों से पहले कांग्रेस के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. देश के कुछ ही राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, जिसमे से कर्नाटक भी है. जहाँ राहुल गाँधी अपने इस गढ़ को बचने के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं, वहीं पीएम मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने भी कर्नाटक से कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए पूरा जोर लगाया है.

इससे पहले आज सुबह ही राहुल गांधी ने कन्नड़ में ट्वीट कर कर्नाटक के मतदाताओं से वोट डालने की अपील की. उन्होंने कहा, ‘मतदान गतिशील लोकतंत्र का संकेत है. मैं अपने सभी युवा मित्रों का स्वागत करता हूं, जो कर्नाटक में पहली बार मतदान कर रहे हैं. कर्नाटक के लोग बड़ी संख्या में लोकतंत्र के इस त्यौहार में शामिल हों.’

आपको बता दें कि कर्नाटक चुनाव के लिए राहुल गाँधी ने काफी मेहनत की है, क्योंकि यह 2019 चुनावों से पहले कांग्रेस के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. देश के कुछ ही राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, जिसमे से कर्नाटक भी है. जहाँ राहुल गाँधी अपने इस गढ़ को बचने के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं, वहीं पीएम मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने भी कर्नाटक से कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए पूरा जोर लगाया है. 

You May Also Like

English News