कर्नाटक ड्रामे के बीच आज कांग्रेस का ‘लोकतंत्र बचाओ दिवस’

कर्नाटक में चल रहा पोलिटिकल ड्रामा खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. परिणाम के बाद जैसे ही बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी उसके बाद ही कांग्रेस और जेडीएस ने एक दूसरे के साथ मिलकर गठबंधन का ऐलान कर दिया था लेकिन इस बीच बहुमत नहीं होने के बावजूद भी बीजेपी को कर्नाटक के राज्यपाल ने सरकार बनाने का मौका दिया जिसके बाद आज कांग्रेस आज देश भर में ‘लोकतंत्र बचाओ दिवस’ मनाएगीकर्नाटक में चल रहा पोलिटिकल ड्रामा खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. परिणाम के बाद जैसे ही बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी उसके बाद ही कांग्रेस और जेडीएस ने एक दूसरे के साथ मिलकर गठबंधन का ऐलान कर दिया था लेकिन इस बीच बहुमत नहीं होने के बावजूद भी बीजेपी को कर्नाटक के राज्यपाल ने सरकार बनाने का मौका दिया जिसके बाद आज कांग्रेस आज देश भर में 'लोकतंत्र बचाओ दिवस' मनाएगी  बता दे, बहुमत नहीं होने के बावजूद कर्नाटक में बीजेपी ने 104 विधायकों के साथ सरकार बनाने का दावा किया जिसके बाद राज्यपाल वजुभाई वाला ने बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार येदियुरप्पा को शपथ दिलवाई जिससे नाराज़ कांग्रेस ने आज देशभर में लोकतंत्र बचाओ दिवस मना रही है. इससे पहले मणिपुर, गोवा और मेघालय में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बावजूद कांग्रेस को सरकार बनाने न्यौता नहीं मिला था.   कर्नाटक में मिल रही खबरों के अनुसार जेडीएस के कुमार स्वामी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बताया कि बीजेपी ने जेडीएस और कांग्रेस के विधायकों को 100-100 करोड़ रुपए में खरीदने के साथ मंत्रिमंडल में मंत्री का पद देने का लालच दिया. कांग्रेस इसे लोकतंत्र के खिलाफ मान रही है, वहीं अब देखने वाली बात यह होगी कि कर्नाटक में बीजेपी कैसे अपना बहुमत साबित करेगी.

बता दे, बहुमत नहीं होने के बावजूद कर्नाटक में बीजेपी ने 104 विधायकों के साथ सरकार बनाने का दावा किया जिसके बाद राज्यपाल वजुभाई वाला ने बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार येदियुरप्पा को शपथ दिलवाई जिससे नाराज़ कांग्रेस ने आज देशभर में लोकतंत्र बचाओ दिवस मना रही है. इससे पहले मणिपुर, गोवा और मेघालय में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बावजूद कांग्रेस को सरकार बनाने न्यौता नहीं मिला था. 

कर्नाटक में मिल रही खबरों के अनुसार जेडीएस के कुमार स्वामी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बताया कि बीजेपी ने जेडीएस और कांग्रेस के विधायकों को 100-100 करोड़ रुपए में खरीदने के साथ मंत्रिमंडल में मंत्री का पद देने का लालच दिया. कांग्रेस इसे लोकतंत्र के खिलाफ मान रही है, वहीं अब देखने वाली बात यह होगी कि कर्नाटक में बीजेपी कैसे अपना बहुमत साबित करेगी.

You May Also Like

English News