कर्नाटक दौरे में आज राहुल गांधी का आखिरी दिन, ये है कार्यक्रम

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कर्नाटक के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. आज उनके दौरे का आखिरी दिन है. राज्य के होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सत्ता को बरकरार रखने की राहुल के सामने बड़ी चुनौती है. इसी मद्देनजर पिछले एक महीने में ये उनका दूसरा दौरा है. राहुल अपने यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार निशाना साध रहे हैं.कर्नाटक दौरे में आज राहुल गांधी का आखिरी दिन, ये है कार्यक्रम

राहुल अपने दूसरे दौरे के आखिरी दिन बागलकोट, बेलगाम और धरवाद में रहेंगे. वो सुबह 9.20 बजे से 9.50 तक बगलकोट और बेलगाम जिले के ब्लाक कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग करेंगे. इसके बाद सुबह 9.50 से 10.20 तक बगलकोट और बेलगाम के पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक करेंगे.

राहुल बगलकोट से सुबह 10.30 बजे हेलीकाप्टर से रामदुर्ग के लिए रवाना होंगे. 10.45 बेलगाम जिले के रामदुर्ग के चिनचोली ग्राउंड में नुक्कड़ सभा को संबोधित करेंगे. इसके बाद राहुल दोपहर 12.45 बजे बेलगाम के सौनदत्ती के सरकारी स्कूल के ग्राउंड में नुक्कड़ सभा करेंगे. इसके बाद कुछ देर सौनदत्ती में रुकेंगे. इसके बाद वो सीधे धरवाद जाएंगे, जहां उनका स्वागत कार्यक्रम रखा गया है. 

शाम साढ़े पांच बजे राहुल गांधी हुबली के नेहरू मैदान पहुंचेंगे और एक बड़ी जनसभा को संबोधित करेंगे. इसके शाम सवा सात बजे वो धारवाड़ के पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे. इस दौरान वहां उत्तर प्रदेश के रहने वाले लोगों के साथ भी मुलाकत करेंगे. इसके बाद सवा आठ बजे हुबली एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए वापस रवाना होंगे. 

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष ने रविवार को केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा था कि, ‘पैसा किसानों, मजदूरों की जेब से निकालकर 10 उद्योगपतियों की जेब में जा रहा है. आपने देश के 10 सबसे अमीर उद्योगपतियों का लोन माफ किया, मोदी जी क्या आप हिंदुस्तान के किसानों का लोन माफ करोगे, कोई जवाब नहीं मिला.

राहुल ने कहा, मैंने मोदी जी से मुलाकात की और उनसे कहा कि गरीब किसानों का कर्ज भी उसी तरह माफ किया जाए जैसे उद्योगपतियों का किया गया. मोदी जी ने मेरे सवाल का जवाब नहीं दिया. यही सवाल मैंने सिद्धारमैया जी से किया और उन्होंने कार्रवाई करते हुए किसानों का 8000 करोड़ रुपये का लोन माफ कर दिया.’

राहुल ने अपने पहले दौर में बेल्लारी, कोप्पल, राइचूर, यदगिर, गुलबर्ग और बिदर जिले गए थे. इसके अलावा उन्होंने कई प्रसिद्ध मंदिरों और धार्मिक स्थलों का भी दौरा किया था.

You May Also Like

English News