कर्नाटक: पोर्न वीडियों कांड ने धूमिल कर दी थी जे कृष्णा पालेमार की छवि

बजे अध्यक्ष अमित शाह फ़िलहाल कर्नाटक के रण में पार्टी की कमान संभाले दस दिवसीय दौरे पर है, जहां वे हर रोज कई चुनावी रैलियां और सभाएँ करेंगे. कर्नाटक बीजेपी के तमाम दिग्गज इस दौरान उनके साथ होंगे. इनमे जे कृष्णा पालेमार जो की कर्नाटक विधान सभा के पूर्व सदस्य है जैसा बड़ा नाम भी शामिल है. जिन्होंने बीएस येदियुरप्पा सरकार में पर्यावरण और बंदरगाह मंत्री के रूप में कार्य किया था.बजे अध्यक्ष अमित शाह फ़िलहाल कर्नाटक के रण में पार्टी की कमान संभाले दस दिवसीय दौरे पर है, जहां वे हर रोज कई चुनावी रैलियां और सभाएँ करेंगे. कर्नाटक बीजेपी के तमाम दिग्गज इस दौरान उनके साथ होंगे. इनमे जे कृष्णा पालेमार जो की कर्नाटक विधान सभा के पूर्व सदस्य है जैसा बड़ा नाम भी शामिल है. जिन्होंने बीएस येदियुरप्पा सरकार में पर्यावरण और बंदरगाह मंत्री के रूप में कार्य किया था.  एक उद्योगपति, एक प्रतिष्ठित निर्माता, शिक्षाविद और बहुमुखी सामाजिक कार्यकर्ता की छवि वाले जे कृष्णा पालेमार के साथ एक शर्मनाक वाकिया जुड़ा था. जब 2012 की फरवरी में विधानसभा की कार्यवाही के दौरान वे अपने दो साथी नेताओं के साथ मोबाइल पर अश्लील वीडियों देखते कैमरे में कैद कर लिए गए थे. प्रसिद्ध मल्लिकार्जुन मंदिर, जेपिनमोगारू और पराशक्ति क्रिथ्रा मद्यारू के ट्रस्टी जे कृष्णा पालेमार उस दौरान अपने इस कृत्य के कारण खूब सुर्खियों में रहे और उनकी अब तक की छवि के विपरीत रूप को देख पार्टी में भी उन्हें नाराजगी झेलनी पड़ी थी.  बहरहाल पार्टी और वे अब बीती बातों को भूल कर कर्नाटक में होने वाले आगामी विधान सभा चुनावों जिनके लिए 12 मई को वोट डालें जायेंगे पर अपना ध्यान लगा रहे है. चुनावों के परिणाम 15 मई को आएंगे.

एक उद्योगपति, एक प्रतिष्ठित निर्माता, शिक्षाविद और बहुमुखी सामाजिक कार्यकर्ता की छवि वाले जे कृष्णा पालेमार के साथ एक शर्मनाक वाकिया जुड़ा था. जब 2012 की फरवरी में विधानसभा की कार्यवाही के दौरान वे अपने दो साथी नेताओं के साथ मोबाइल पर अश्लील वीडियों देखते कैमरे में कैद कर लिए गए थे. प्रसिद्ध मल्लिकार्जुन मंदिर, जेपिनमोगारू और पराशक्ति क्रिथ्रा मद्यारू के ट्रस्टी जे कृष्णा पालेमार उस दौरान अपने इस कृत्य के कारण खूब सुर्खियों में रहे और उनकी अब तक की छवि के विपरीत रूप को देख पार्टी में भी उन्हें नाराजगी झेलनी पड़ी थी.

बहरहाल पार्टी और वे अब बीती बातों को भूल कर कर्नाटक में होने वाले आगामी विधान सभा चुनावों जिनके लिए 12 मई को वोट डालें जायेंगे पर अपना ध्यान लगा रहे है. चुनावों के परिणाम 15 मई को आएंगे.

You May Also Like

English News