कर्नाटक: बच्चों को चॉकलेट बांट रहा था गूगल का इंजीनियर, भीड़ ने बच्चा चोर समझकर कर दी हत्या

बच्चा चोर के नाम पर भीड़ की हिंसा में एक और शख्स की जान चली गई. कर्नाटक के बीदर जिले में भीड़ ने एक 32 साल के गूगल के सॉफ्ट इंजीनियर अजाम (27) की पीट-पीटकर हत्या कर दी. भीड़ के हमले में तीन अन्य लोग भी बुरी तरह जख्मी हो गए. जिसमें से एक कतर का नागरिक है. परिजनों का कहना है कि बीदर में एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए सभी चार हैदराबाद से आए थे. इसी दौरान एक ने बच्चों को चॉकलेट बांटी. तभी भीड़ ने उन्हें बच्चा चोर समझकर पीटना शुरू कर दिया. जिसमें अजाम की मौत हो गई. वहीं बशीर, सलाहम और अकरम घायल हो गए.गूगल के सॉफ्ट इंजीनियर अजाम (

घायलों को पहले बीदर के सरकारी अस्पताल मे भर्ती कराया गया था जिसके बाद उन्हें हैदराबाद के अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया. वारदात 13 जुलाई की है. औरद पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा कि अब तक 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के मुताबिक, व्हाट्सएप के जरिए बच्चा चोर की अफवाह फैलाई गई थी. हमने तीन व्हाट्सएप एडमिन को गिरफ्तार किया है. कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा है कि हमारी नजर बनी हुई है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

हैदराबाद के रहने वाले अजाम अपने दोस्तों के साथ एक अन्य दोस्त से मिलने आए थे. मिलने के बाद सभी कार से लौट रहे थे. तभी मुरकी गांव के करीब इन लोगों ने कुछ स्कूली बच्चों को देखा. सलाहम ने बच्चों को चॉकलेट देने की कोशिश की. तभी किसी ने बच्चा चोर की अफवाह उड़ा दी. देखते-देखते भीड़ इकट्ठा होने लगी. भीड़ को देखते हुए सभी ने भागने की कोशिश की लेकिन वह असफल रहे. कुछ लोगों ने चारों की तस्वीर बच्चा चोर के नाम से व्हाट्सएप ग्रुप में डाल दी.

एक पीड़ित के मुताबिक, अगले गांव में जब वह पहुंचे तो गांव वालों ने पेड़ से सड़क को जाम कर दिया था. कार अजाम चला रहे थे. उन्होंने जाने बचाने के लिए तेज रफ्तार में कार भगाने की कोशिश की. कार खाई में गिर गई. तभी वहां मौजूद भीड़ ने खींचकर पीटना शुरू कर दिया.

आपको बता दें कि देशभर में बच्चा चोरी की अफवाह है. अफवाह व्हाट्सएप और अन्य सोशल मीडिया माध्यम के जरिए फैलाई जा रही है. अब तक कम से कम भीड़ की हिंसा में पिछले एक साल में 30 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले दिनों ही महाराष्ट्र के धुले में भीड़ ने बच्चा चोर के शक में पांच लोगों की हत्या कर दी थी.

You May Also Like

English News