कर्नाटक में कांग्रेस ने खड़ी कि करोड़पतियों की फौज

12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कर्नाटक में कांग्रेस की ओर से करोड़पति उम्मीदवारों की फौज खड़ी कर दी गई है और जानकारी के अनुसार कांग्रेस के द्वारा जारी 218 उम्मीदवारों की सूची में से 91 फीसदी प्रत्याशी करोड़पति है. जानिए और भी इन कर्नाटक चुनाव के बारे में –12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कर्नाटक में कांग्रेस की ओर से करोड़पति उम्मीदवारों की फौज खड़ी कर दी गई है और जानकारी के अनुसार कांग्रेस के द्वारा जारी 218 उम्मीदवारों की सूची में से 91 फीसदी प्रत्याशी करोड़पति है. जानिए और भी इन कर्नाटक चुनाव के बारे में -   -कांग्रेस के 32 फीसदी उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं.  -वहीं भारतीय जनता पार्टी में 27 फीसदी उम्मीदवार ऐसे हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं.  -कर्नाटक में किंग मेकर का तमगा हासिल कर चुकी जनता दल (सेकुलर) (जेडीएस) में ये आंकड़ा 29 फीसदी  है.  -बीजेपी ने 111 चेहरों पर और जेडीएस ने 58 चेहरों पर दोबारा दांव लगाया है, इन्हे पार्टी ने दोबारा टिकट दिया है.  -शोध संस्थान एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) के विश्लेषण के अनुसार कांग्रेस से दोबारा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 28 करोड़ रुपये है -जबकि बीजेपी की तरफ से दोबारा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 8 करोड़ रुपये  -जेडीएस के उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 14 करोड़ रुपये है.  -बीजेपी के 97 उम्मीदवार करोड़पति हैं.  -जेडीएस ने 46 करोड़पति उम्मीदवारों को टिकट दिया है. -कांग्रेस की तरफ से दोबारा चुनाव लड़ रहे 148 उम्मीदवारों में से 48 उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों की घोषणा की है.  -भाजपा ने 111 लोगों को दोबारा टिकट दिया है. जिसमें से 30 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले लंबित हैं. -जेडीएस की तरफ से दोबारा लड़ रहे 58 उम्मीदवारों में से 17 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं.  -कांग्रेस और जेडीएस, दोनों पार्टियों के 16 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले हैं -बीजेपी के 17 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर मामले दर्ज हैं. -ये जानकारी एडीआर और कर्नाटक इलेक्शन वॉच ने इन उम्मीदवारों के नामांकन से प्राप्त जानकारी के आधार पर दी है.

-कांग्रेस के 32 फीसदी उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं.

-वहीं भारतीय जनता पार्टी में 27 फीसदी उम्मीदवार ऐसे हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. 
-कर्नाटक में किंग मेकर का तमगा हासिल कर चुकी जनता दल (सेकुलर) (जेडीएस) में ये आंकड़ा 29 फीसदी  है. 
-बीजेपी ने 111 चेहरों पर और जेडीएस ने 58 चेहरों पर दोबारा दांव लगाया है, इन्हे पार्टी ने दोबारा टिकट दिया है. 
-शोध संस्थान एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) के विश्लेषण के अनुसार कांग्रेस से दोबारा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 28 करोड़ रुपये है
-जबकि बीजेपी की तरफ से दोबारा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 8 करोड़ रुपये 
-जेडीएस के उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 14 करोड़ रुपये है. 
-बीजेपी के 97 उम्मीदवार करोड़पति हैं. 
-जेडीएस ने 46 करोड़पति उम्मीदवारों को टिकट दिया है.
-कांग्रेस की तरफ से दोबारा चुनाव लड़ रहे 148 उम्मीदवारों में से 48 उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों की घोषणा की है. 
-भाजपा ने 111 लोगों को दोबारा टिकट दिया है. जिसमें से 30 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले लंबित हैं.
-जेडीएस की तरफ से दोबारा लड़ रहे 58 उम्मीदवारों में से 17 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. 
-कांग्रेस और जेडीएस, दोनों पार्टियों के 16 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले हैं
-बीजेपी के 17 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर मामले दर्ज हैं.
-ये जानकारी एडीआर और कर्नाटक इलेक्शन वॉच ने इन उम्मीदवारों के नामांकन से प्राप्त जानकारी के आधार पर दी है. 

You May Also Like

English News