कश्मीर घाटी में तनाव को देखते हुए इंटरनेट सेवांए बंद !

जम्मू: रविवार को कश्मीर में लोकसभ सीट के लिए हुआ मतदान काफी उपद्रव से भरा रहा। श्रीनगर में सबसे कम महज 7.14 फीसदी वोट पड़े। श्रीनगर लोकसभा क्षेत्र में मतदान के दौरान बड़े पैमाने पर हिंसा हुई जिसमें सुरक्षा बलों की गोली से 9 उपद्रवियों की मौत हो गई।  नेशनल कान्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने इसे राज्य सरकार की नाकामी बताया है।

 


बडगाम जिले में चरार ए शरीफ  के पाखेरपुरा और बीरवाह इलाके में दो- दो लोगों की मौत और इसी जिले के चडूरा क्षेत्र में एक तथा मागम कस्बे से भी एक व्यक्ति की मौत की खबर है। अधिकारियों ने बताया कि कई इलाके में हिंसक प्रदर्शन के कारण बडगाम जिले में तकरीबन 70 प्रतिशत मतदान केंद्रों को मतदानकर्मियों ने छोड़ दिया। उपद्रव मचा रही भीड़ को काबू करने के लिए सुरक्षा बलों की मदद के वास्ते सेना को बुलाया गया। भीड़ ने श्रीनगर निर्वाचन क्षेत्र के गंदेरबल जिले में एक मतदान केंद्र पर पथराव किया और पेट्रोल बम फेंका। अधिकारियों ने बताया कि बडगाम जिले के चरार ए शरीफ  इलाके के पाखेरपुरा में एक मतदान केंद्र पर सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने तोडफ़ोड़ की और एक इमारत को क्षतिग्रस्त कर दिया जहां एक मतदान केंद्र था। सुरक्षाबलों ने मतदान केंद्रों पर हमला करने वाली भीड़ को तितर-बितर करने के लिए चेतावनी स्वरूप गोलियां चलाई लेकिन उनपर कोई फर्क नहीं पड़ा।
विपक्षी नेशनल काफ्रेस के अध्यक्ष और उम्मीदवार फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला ने सुगमतापूर्वक चुनाव कराने में नाकामी के लिए महबूबा मुफ्ती नीत जम्मू कश्मीर सरकार पर हमला किया है। फारूक ने कहा पीडीपी-भाजपा सरकार शांतिपूर्ण चुनाव के लिए अनुकूल माहौल मुहैया कराने में असफल रही। अब्दुल्ला श्रीनगर लोकसभा सीट से उपचुनाव में उम्मीदवार हैं। उन्होंने कहा लोगों ने इस वोट के लिए संघर्ष किया है और वे इसका उपयोग करने में सक्षम होने चाहिए। पर यह सरकार लोगों को वह शांतिपूर्ण माहौल देने में असफल रही ताकि वे आकर वोट कर सकें। अलगाववादियों ने श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव के दौरान छह व्यक्तियों की मौत के विरोध में सोमवार और मंगलवार को जम्मू कश्मीर बंद आहूत किया है।
हालात बेकाबू होने पर सुरक्षा के मद्देनजर श्रीनगर, बडगाम और गंदरबल जिलों में इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी गईं। यहां मोबाइल इंटरनेट और ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी बंद कर दी गई है। पूरे कश्मीर घाटी में 12 तारीख तक इंटरेट सेवा पर रोक जारी रहेगी। कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट पर 12 अप्रैल को मतदान होना है  जहां चुनाव कराना बड़ी चुनौती होगी। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के छोटे भाई तसदुक मुफ्ती अनंतनाग से अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत कर रहे हैं।

 

You May Also Like

English News