कहीं आप भी तो नहीं बैठते हैं इस तरह? होंगी बड़ी परेशानियां….

महिला हो या पुरूष ज्यादातर लोग पैरों को क्रॉस करके ही बैठते हैं. इसकी एक वजह यह है कि इस पोस्चर को काफी स्टाइलिश माना जाता है.कहीं आप भी तो नहीं बैठते हैं इस तरह? होंगी बड़ी परेशानियां....होंठो को नरम और मुलायम बनाते है एलोवेरा और शहद…

अगर आपको भी पैरों को क्रॉस कर के बैठने की आदत है तो सावधान हो जाएं. क्योंकि कई हैल्थ एक्सपर्ट ने पैरों को क्रॉस करके बैठने की आदत को सेहत लिए काफी खतरनाक बताया है.

दरअसल, आपके बैठने का यह स्टाइल आपको कई तरह की बीमारियों का शिकार बना सकता है. इसलिए बैठते समय इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आप ज्यादा समय तक किसी एक पोस्चर में ना बैठे. हैल्दी रहने के लिए समय-समय पर अपने पोस्चर को बदलते रहें.

आइए जानते हैं पैरों को क्रॉस करके बैठने से होने वाली बीमारियां…

1. ब्लड प्रेशर का बढ़ना:

कई स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि ज्यादा समय तक पैरों को क्रॉस करके बैठने से ब्लड प्रेशर काफी हद तक बढ़ जाता है. इसलिए हैल्थ एक्सपर्ट ब्लड प्रेशर के शिकार लोगों के साथ ऐसे लोगों को भी इस पोस्चर में बैठने से बचने की हिदायत देते हैं जिन्हें ब्लड प्रेशर की परेशानी नहीं है.

2. नर्व पैरालिसिस का खतरा: 

अगर आप ज्यादा समय तक पैरों को क्रॉस करके बैठते हो तो इससे आपके पैरों की नसों को नुकसान पहुंच सकता है. क्योंकि ऐसे बैठने पर पैरों की नसों पर प्रेशर बढ़ जाता है जिस वजह से नसों के डेमेज होने का खतरा रहता है. इतना ही नहीं बल्कि इस पोस्चर में बैठने से व्यक्ति पेरोनोल नर्व पैरालिसिस का शिकार भी हो सकता है.

3. बल्ड सर्क्यूलेशन बिगड़ना:

एक पैर को दूसरे पैर पर रखकर बैठने के कारण दिल में ज्यादा ब्लड पहुंचता है. क्योंकि जब आप पैरों को क्रॉस करके बैठते हैं तो ब्लड ऊपर से नीचे की तरफ आना बंद कर देता है और हार्ट उल्टा पंप करना शुरु कर देता है. जिस वजह से शरीर में ब्लड सर्क्यूलेशन बिगड़ जाता है.

4. स्पाइडर वेन का खतरा:

ज्यादा समय तक एक पैर को दूसरे पैर पर रखकर बैठने से आप स्पाइडर वेन के शिकार हो सकते हैं. क्योंकि एक पैर को दूसरे पैर पर रखकर बैठने से पैरों में पहुंचने वाला खून रुक कर वापस दिल में ही सर्क्युलेट हो जाता है. जिस कारण आपके पैरों में सूजन आने लगती है. साथ ही आपके पैरों की नसें कमजोर हो जाती हैं.

You May Also Like

English News