कांग्रेस का बड़ा आरोप- अहंकारी शासकों ने जानबूझकर राहुल को छठी लाइन में बिठाया

देश 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल हुए. वो चौथी पंक्ति में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बगल में बैठे नजर आए. जबकि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी उनसे दो पंक्ति आगे बैठी दिखीं. वहीं बीजेपी अध्यक्ष पहली पंक्ति में बैठे थे.कांग्रेस का बड़ा आरोप- अहंकारी शासकों ने जानबूझकर राहुल को छठी लाइन में बिठाया

राजपथ में होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह में इस बार आसियान के 10 राष्ट्राध्यक्ष चीफ गेस्ट के रूप में शामिल हुए. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली पंक्ति में बैठे थे. वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री दूसरी पंक्ति में दिखे.

बता दें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर होने समारोह में सीट आवंटन रक्षा मंत्रालय करता है. राजपथ के समारोह में राहुल के लिए चौथी पंक्ति में सीट आवंटित किए जाने की बात गुरुवार को सामने आई थी. इसके बाद कांग्रेस नेता ने कहा था कि हमारे पार्टी अध्यक्ष को चौथी पंक्ति में जगह दी गई है, लेकिन अतीत में उन्हें पहली पंक्ति में जगह दी जाती रही है.’ कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि ऐसा करके मोदी सरकार ‘सस्ती राजनीति’ कर रही है. हालांकि नेता ने यह भी कहा था कि चाहे जहां जगह दी जाए, राहुल गांधी गणतंत्र दिवस समारोह में हिस्सा लेंगे. 

कांग्रेस नेताओं का कहना था कि पार्टी अध्यक्ष को आजादी के बाद से ही पहली पंक्ति में जगह दी जाती रही है. सोनिया गांधी को भी बतौर कांग्रेस अध्यक्ष हमेशा पहली पंक्ति में जगह दी गई. 2014 में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को भी हमेशा पहली पंक्ति में जगह दी गई है.

अमित शाह आज राजपथ के गणतंत्र दिवस समारोह में पहली पंक्ति में नजर आई. जबकि राहुल गांधी चौथी पंक्ति में बैठे थे. राहुल के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद भी चौथी पंक्ति में बैठे थे.

You May Also Like

English News