कांग्रेस ने विधानसभा की सीढ़ियों पर लगाया डमी सदन, काली पट्टी बांधकर कर रहे विरोध

भोपाल। विधानसभा का मानसून सत्र निर्धारित समय से पहले ही समाप्त होने के बाद कांग्रेस ने विरोध जताया है। अपनी घोषणा अनुसार कांग्रेस के विधायक विधानसभा पहुंचे और सीढ़ियों पर ही डमी सदन लगाया।

गौरतलब है कि मंगलवार को सत्र के दूसरे दिन भारी हंगामे के चलते विधानसभा को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया था। सत्र समाप्त करने के विरोध में कांग्रेस ने कांग्रेस ने घोषणा की थी कि कांग्रेस अगले 3 दिनोंं तक अविश्वास प्रस्ताव के मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाएगी। इसी कड़ी में कांग्रेस विधायक विधानसभा पहुंचे। उन्हें भीतर जाने की अनुमति नहीं मिली तो विधायकों ने सीढ़ियों पर ही डमी सदन लगा लिया। काली पट्टी बांधकर पहुंचे कांग्रेसी विधायकों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और डमी सदन के माध्यम से भ्रष्टाचार और अन्य मुद्दों को उठाया।

विरोध के चलते लगाए गए डमी सदन में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक यादवेंद्र सिंह को विधानसभा अध्यक्ष बनाया गया। यादवेंद्र सिंह ने आंखों पर काली पट्टी और मुंह पर टेप लगाया हुआ था। सभी कांग्रेस के विधायकों ने काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज किया।
सरकार चर्चा से बच रही – अजय सिंह

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा सरकार अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा से बच रही है इसलिए सत्र को पहले ही समाप्त कर दिया गया। उन्होंंने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरण शर्मा पर भाजपा के पक्ष में काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ये लोकतंत्र की हत्या है। उन्होंने ये भी कहा कि कांग्रेस के विधायक अब विधानसभा के किसी भी सत्र, सांस्कृतिक प्रोग्राम, फोटो सेशन या अन्य कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे।

वरिष्ठ विधायक मुकेश नायक ने कहा कि जनता ने उन्हें विपक्ष का दायित्व दिया है। मंत्रियो के असंख्य घोटाले हैं। ये धरना भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प है।

You May Also Like

English News