कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए तैनात हुए कमांडो

गाजियाबाद पुलिस ने कांवड़ यात्रा को शांतिपूर्वक संपन्न कराने और कांवड़ियों के लिए तीन कमांडो दस्ते तैनात किए हैं. ये दस्ते अलग क्षेत्रों में राउंड द क्लॉक गश्त करेंगे और किसी भी सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचकर हालात काबू करेंगे.कांवड़ यात्रा अपने चरम पर है और कांवड़ियों की संख्या लगातार बढ़ रही है.

भारत की डिप्लोमेसी ने दिखाई अपनी ताकत, द. कोरिया ने PoK में निवेश से हाथ खींचा

कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए तैनात हुए कमांडो

लाखों की संख्या मे कांवड़िए यहां आते हैं और काफी संख्या में कांवड़ कैंप भी लगे हैं, जिनकी सुरक्षा और तुरन्त एक्शन के लिए ये कमांडो दस्ते उतारे गए हैं. हर दस्ते में चार कमांडो हैं. गाजियाबाद की सिविल पुलिस और ट्रैफिक पुलिस के एक्टिव सिपाही और एसआई को चुनकर यह कामांडो दस्ते बनाए गए हैं. इन 3 दस्तों में पहला दस्ता कोतवाली से मेरठ तिराहा व मेरठ तिराहे से मनन धाम तक गश्त करेगा.

देखें, भारतीय सेना की इतनी ज्यादा है ताकत…खत्म कर सकती है एक साथ इन बड़े देशों को, लेकिन फिर भी…

दूसरा कमांडो दस्ता मेरठ रोड से यूपी बॉर्डर व लोनी बॉर्डर तक लगातार गश्त पर होगा. तीसरा दस्ता देहात क्षेत्र के मोदीनगर-मुरादनगर और पाइप लाइन मार्ग पर तैनात किया गया है. कमांडो की टीम अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस की गई है. डॉग स्क्यायड को भी कांवड़ कैंपों की निगरानी में लगाया गया है. कांवड़ यात्रियों की सुरक्षा के लिए यह सारी कवायद यहां की गई है.

 

You May Also Like

English News