किसान के घर डकैती विरोध करने पर बेटे पर किया हमला

किसान के घर डकैती विरोध करने पर बेटे पर किया हमला लखनऊ , 28 सितम्बर । पारा के सलेमपुर पतौरा गांव में डकैती व गैंगरेप के आरोपियों को अभी पुलिस सुराग नहीं लगा पायी थी कि काकोरी के बाजनगर गांव में एक किसान के घर मंगलवार की रात असलहाधारी डकैतों ने डकैती डाली। बदमाशों ने किसान के एक बेटे पर लोहे की राड से वार कर दिया। वहीं उसकी पत्नी को भी मारापीटा। डकैत किसान के घर से लाखों की नकदी, जेवरात व अन्य सामान उठा ले गये।काकोरी के बाजनगर इलाके में किसान राजाराम अपने परिवार के साथ रहता है। बताया जाता है कि मंगलवार की रात परिवार के लोग खाना खाकर सो गये। देर रात 8 से 10 बदमाश दरवाज की दीवार फांद कर घर के अंदर घुस गये। घर के बरामदे में राजाराम का बेटा दयाराम व उसकी पत्नी लक्ष्मी लेटे थे। वहीं दयाराम के दो भाई सियाराम व सीताराम दूसरे बरामदे में सो रहे थे, जबकि राजाराम एक कमरे में लेटा था। बदमाशों के घर के अंदर दाखिल होते ही दयाराम की आंख खुल गयी।
बदमाशों को देख उसने शोर मचाने की कोशिश की तो बदमाशों ने उसके सिर पर लोहे की राड मार दी। इस हमले में दयाराम खून से लथपथ होकर बेहोश हो गया। इस बीच दयाराम की पत्नी लक्ष्मी की भी आंख खुल गयी। लक्ष्मी ने भी विरोध करने की कोशिश की तो बदमाशों ने भी उसको मारापीटा और चुप रहने की धमकी देते हुए बिस्तर पर लेट जाने की बात कही। डरी सहमी लक्ष्मी चुपचाप चादर होड़ कर लेट गयी। बदमाश जैसी दूसरे बरामदे की तरफ बढ़े वैसे ही सियाराम व सीताराम भी जाग गये। बदमाशों ने उनपर भी असलहा तान दिया और चुपचाप लेटे रहने की धमकी दी। बदमाशों के देख सीताराम व सियाराम भी लेट गये। खटपट की आवाज सुन दयाराम भी जग गया तो बदमाशों ने
उसके कमरे में बाहर से कुण्डी लगा दी और धमकी दी कि अगर उसने शोर मचाया तो उसके परिवार के लोगों की हत्या कर दी जायेगी। बदमाशों की धमकी सुन दयाराम भी खामोश रह गया। इसके बाद बदमाशों ने घर से नकदी, जेवरात व अन्य सामान बटोरे। इस बीच दयाराम के पड़ोस में रहने वाले उसके भाई अरविंद के बेटे नन्हके की आंख खुल गयी। उसने अपने मकान की छत से झांक कर देख तो दयाराम के घर में बदमाश मौजूद थे। इस बीच बदमाशों ने नज़र नन्हके पर पड़ गयी। बदमाशों ने उसके मुंह पर टार्च की रोशनी मारते हुए चुप रहने की बात
कही। बदमाशों को देख नन्हके किसी तरह छत से नीचे उतरा और दौड़कर गांव पहुंचा और गांव वालों को घटना के बारे में बताया। डकैती की बात सुनते ही गांव के लोग मदद के लिए दौड़े तो बदमाश वहां से भाग निकले। बाजनगर गांव में डकैती की सूचना पाकर मौके पर काकोरी पुलिस भी पहुंच गयी। पुलिस ने गांव में बदमाशों को काफी तलाश पर उनका कुछ पता नहीं चल सका। पुलिस ने आनन-फानन में घायल दयाराम को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया। पुलिस ने इस मामले में डकैती की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

You May Also Like

English News