काबुल बम धमाके के पीछे PAK की खुफिया एजेंसी ISI और हक्कानी नेटवर्क का बहुत था हाथ

काबुल में हुए ट्रक बम धमाके के पीछे हक्कानी नेटवर्क और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI (इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस) का हाथ बताया जा रहा है. टोलो न्यूज के हवाले अफगानिस्तान की खुफिया एजेंसी नेशनल डायरेक्टरेट ऑफ सिक्युरिटी के मुताबिक बुधवार 31 मई की सुबह अफगानिस्तान के राजनयिक इलाके में हुए ट्रक बम विस्फोट की योजना पाकिस्तान में हक्कानी नेटवर्क ने बनाई, जिसमें PAK खुफिया एजेंसी ISI भी शामिल है. काबुल बम धमाके के पीछे PAK की खुफिया एजेंसी ISI और हक्कानी नेटवर्क का बहुत था हाथयह भी पढ़े: पेरिस समझौते पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कर सकते हैं अपने निर्णय की घोषणा

अफगानिस्तान की ओर से तालिबान के हक्कानी नेटवर्क पर हमले का आरोप लगाया गया है, वहीं तालिबान ने अपना हाथ होने से इनकार करते हुए इस हमले की निंदा की है.

काबुल के राजनयिक इलाके में जोरदार बम धमाका
गौरतलब है कि बुधवार की सुबह साढ़े आठ बजे (स्थानीय समयानुसार) काबुल के राजनयिक इलाके में जोरदार बम धमाका हुआ, जिसमें कम से कम 90 लोगों की मौत हो गई और चार सौ लोग घायल हो गए, जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं.

टैंकर में 15 सौ किलो की विस्फोटक सामग्री
किसी भी आतंकी संगठन ने अब तक इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. अधिकारियों ने बताया कि 15 सौ किलो की विस्फोटक सामग्री गंदे पानी के टैंकर में छिपाई गई थी. चश्मदीदों के मुताबिक, घटनास्थल पर शव बिखरे पड़े थे और पूरे इलाके में घना धुंआ निकल रहा था. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दर्जनों कारें सड़क पर ही फंस गईं, क्योंकि घायल लोग और घबराई स्कूली छात्राएं सुरक्षा के लिए उनकी आड़ ले रही थीं.

You May Also Like

English News