किम के मिसाइल टेस्ट रोकने की असली वजह यह है

एक आश्चर्यजनक एलान करते हुए उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने शनिवार को परमाणु मिसाइल टेस्ट कार्यक्रम रोकने की बात कही थी मगर उस वक्त तक इसकी सही वजह सामने नहीं आई थी. मगर अब सूत्रों केअनुसार पता  चला है कि चीन के भू-गर्भ विशेषज्ञों ने दावा किया है कि उत्तर कोरिया की भूमिगत परमाणु परीक्षण साइट ढह गई है और अब उनके पास परीक्षण के लिए कोई स्थान नहीं बचा है और यही वजह है कि किम ने उक्त एलान किया था.एक आश्चर्यजनक एलान करते हुए उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने शनिवार को परमाणु मिसाइल टेस्ट कार्यक्रम रोकने की बात कही थी मगर उस वक्त तक इसकी सही वजह सामने नहीं आई थी. मगर अब सूत्रों केअनुसार पता  चला है कि चीन के भू-गर्भ विशेषज्ञों ने दावा किया है कि उत्तर कोरिया की भूमिगत परमाणु परीक्षण साइट ढह गई है और अब उनके पास परीक्षण के लिए कोई स्थान नहीं बचा है और यही वजह है कि किम ने उक्त एलान किया था.  हालांकि किम ने इसके पीछे अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भेट को इसकी वजह बताया था. लेकिन सूत्रों ने एक नई दिशा की ओर इशारा किया है. पिछले साल हुए एक परीक्षण के दौरान उत्तर कोरिया की परमाणु परीक्षण साइट धमाके के कारण ढह गई थी. चीन के शोधकर्ताओं ने यह पता किया कि सितंबर में हुए छठे परीक्षण के दौरान परमाणु साइट का हिस्सा ढह गया.  परीक्षण के दौरान हुए धमाके को जापान ने करीब 120 किलोटन का मापा था, जो कि अमेरिका की ओर से हिरोशिमा शहर पर गिराए गए बम से भी आठ गुना ज्यादा था. सैटलाइट तस्वीरों से भी यह नजर आ रहा है कि छठे परीक्षण से पहले और उसके बाद इलाके की भौगोलिक स्थिति में बदलाव हुआ है.

हालांकि किम ने इसके पीछे अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भेट को इसकी वजह बताया था. लेकिन सूत्रों ने एक नई दिशा की ओर इशारा किया है. पिछले साल हुए एक परीक्षण के दौरान उत्तर कोरिया की परमाणु परीक्षण साइट धमाके के कारण ढह गई थी.
चीन के शोधकर्ताओं ने यह पता किया कि सितंबर में हुए छठे परीक्षण के दौरान परमाणु साइट का हिस्सा ढह गया.

परीक्षण के दौरान हुए धमाके को जापान ने करीब 120 किलोटन का मापा था, जो कि अमेरिका की ओर से हिरोशिमा शहर पर गिराए गए बम से भी आठ गुना ज्यादा था. सैटलाइट तस्वीरों से भी यह नजर आ रहा है कि छठे परीक्षण से पहले और उसके बाद इलाके की भौगोलिक स्थिति में बदलाव हुआ है.

You May Also Like

English News