किसान की गोली मारकर हत्या खेत से लौटते वक्त मारी गोली

लखनऊ ,26 दिसम्बर सरोजनीनगर इलाके में रविवार की शाम अपने खेत से लौट रहे एक किसान को कुछलोगों ने गोली मार दी। गोली किसान के सिर पर लगी और उसको इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। किसान की हत्या के मामले में परिवार वालों ने चार लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी है। नामजद आरोपियों से किसान का जमीन को लेकर
विवाद चल रहा था। फिलहाल पुसिल पूरे मामले की छानबीन में जुटी है। सीओ सरोजनीनगर डीके सिंह ने बताया कि कृष्णानगर के बरिगवां एलडीए कालोनी में 60 वर्षीय किसान राजबहादुर अपने परिवार के साथ रहता था। उसका सरोजनीनगर के दरोगाखेड़ा-रनियापुर गांव में खेत था और रनियापुन गांव में ननिहाल भी है। बताया जाता है कि रविवार को किसान अपनी बाइक से खेत गया था। खेत की देखभाल के बाद वह अपनी ननिहाल आया। कुछ देर वहां रुकने के बाद वह बाइक से अपने घर के लिए निकला। बताया जाता है कि रनियानपुर गांव से 500 मीटर दूरी पर कुछ लोगों ने उसको गोली मार दी।
किसान की गोली मारकर हत्या खेत से लौटते वक्त मारी गोली
गोली किसान के सिर पर लगी और वह लहूलुहान होकर सड़क पर ही गिर पड़ा। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग मदद के लिए पहुंचे पर वहां कोई हमलावर नहीं दिखा। लोगों की सूचना पर पहुंची सरोजनीनगर पुलिस ने घायल किसान राजबहादुर को इलाज के लिए लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से डाक्टरों ने उसको ट्रामा सेंटर रिफर कर दिया। किसान को गोली मारे जाने की खबर पाकर परिवार के लोग भी ट्रामा सेंटर पहुंच गये।
वहीं इलाज के दौरान ही घायल किसान की ट्रामा सेंटर में मौत हो गयी। इसके बाद चौक पुलिस ने किसान के शव को छानबीन के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस मामले में मृतक के परिवार वालों ने रिश्ते के रमेश, हरीओम, प्रेम सहित एक अन्य व्यक्ति हसीमुद्दीन के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी है। इंस्पेक्टर सरोजनीनगर सुधाकर पाण्डेय ने बताया कि हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है और आरोपियों के बारे में व उनकी लोकेशन पता लगायी जा रही है।
मामा ने दी थी किसान को ढाई बीघा जमीन किसान राजबहादुर के परिवार में पत्नी शकुंतला व तीन बेटें हैं। परिवार वालों ने बताया कि राजबहादुर के मामा ने कुछ समय पहले उनको ननिहाल की ढाई बीघा जमीन दे दी थी। इस जमीन को लेकर राजबहादुर व नामजद किये गये
आरोपियों के बीच विवाद चल रहा था। वहीं नामजद आरोपी हसीमुद्दीन से भी किसान का एक जमीन को लेकर विवाद था।

 
 
 
 

You May Also Like

English News