कुंभ का लोगो, UP टूरिज्म की टैग लाइन- यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा… जारी

इंडिया आए, यूपी नहीं देखा तो क्या देखा। कुछ यही संदेश देते हुए मंगलवार को सीएम योगी आदित्यनाथ और गर्वनर राम नाईक ने यूपी टूरिज्म की टैग लाइन और कुंभ के लोगो का अनावरण किया। इस मौके पर जहां सीएम ने कहा कि हर सरकारी विज्ञापन, उपहार व स्मृति चिन्ह में कुंभ लोगो का इस्तेमाल किया जाएगा, वहीं राज्यपाल रामनाईक ने केंद्र व राज्य की सरकार को भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने वाला बताया।कुंभ का लोगो, UP टूरिज्म की टैग लाइन- यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा... जारी
राजभवन में आयोजित समारोह में कुंभ लोगो व यूपी टूरिज्म की टैगलाइन ‘यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा’ का अनावरण किया गया। इसके साथ ही पर्यटन विभाग के वन स्टॉप सॉल्युशन पोर्टल का भी शुभारंभ किया गया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 2019 के कुंभ को अनूठे इवेंट के तौर पर प्रस्तुत करना है। इसके लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। योगी ने कहा कि कुंभ मेले के आयोजन को यूनेस्को की मान्यता का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को दिया।

उन्होंने अर्ध कुंभ का नाम बदलकर कुंभ करने का कारण बताते हुए कहा कि सनातन संस्कृति में अर्ध कुछ भी नहीं होता। वर्ष 2019 के कुंभ में करीब 12 करोड़ लोगों के शामिल होने का अनुमान है। योगी ने कहा कि कुंभ मेले में आने वाले लोग यूपी के बारे में अनुभव लेकर जाएंगे। इसलिए इस आयोजन को हमें बेहतर से बेहतर बनाने का प्रयास करना चाहिए। इस आयोजन के खूब प्रचार-प्रसार की भी जरूरत है।

साथ ही शुरू किया गया वन स्टॉप ट्रैवल साल्युशन

सीएम ने कहा कि सरकारी व अर्ध सरकारी कार्यों, विज्ञापनों, होर्डिंग्स, उपयोगी वस्तुओं व उपहार आदि में कुंभ लोगो का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके साथ ही जारी किए गए वन स्टॉप ट्रैवल साल्युशन पोर्टल पर पर्यटकों को यात्रा प्रारंभ करने से पहले इसकी योजना बनाने से लेकर यात्रा के दौरान विभिन्न सुविधाओं और यात्रा समाप्त होने के बाद अपने अनुभव साझा करने की सुविधा भी होगी। उन्होंने कहा कि पर्यटकों को सुरक्षा के लिए ही पर्यटन पुलिस की स्थापना की गई है।

राज्यपाल रामनाईक ने कहा, अक्सर हम अपने आयोजनों का महत्व तब महसूस करते हैं, जब विदेश की धरती से उसे मान्यता मिलती है। कुंभ को यूनेस्को की मान्यता मिलने से कुछ ऐसी ही अनुभूति हमें होगी। जब मेरे पास कुंभ प्राधिकरण बनाने के लिए अध्यादेश आया तो मैंने उसे तत्काल मंजूरी दे दी। उन्होंने कहा कि संचार क्रांति के कारण कुंभ में पहले से कहीं ज्यादा लोग आएंगे। इसलिए हमें तैयारी भी पहले से अधिक करनी होगी।

उन्होंने वर्ष 2013 के कुंभ के दौरान लखनऊ में रेलवे स्टेशन पर हुए हादसे का जिक्र करते हुए कहा कि इसकी जांच रिपोर्ट से सबक जरूर लेने चाहिए। इसके सबक लेने पर नासिक कुंभ का आयोजन काफी सफल रहा था। पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कुंभ के महत्व पर प्रकाश डाला।

अतिथियों का स्वागत पर्यटन महानिदेशक अवनीश अवस्थी और आभार इलाहाबाद के कमिश्नर आशीष गोयल ने व्यक्त किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा, कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, बृजेश पाठक, ओमप्रकाश राजभर व आशुतोष टंडन आदि भी मौजूद रहे।

 

You May Also Like

English News