कुंवारी लड़कियों से परेशान हुआ देश, दो बीवी रखने पर सरकार दे रही है ये इनाम

भारत में मुस्लिमों के लिए दूसरी शादी करना आसान नहीं है क्योंकि तीन तलाक पर बैन है। साथ ही दूसरी शादी करने के लिए कानूनी रूप से तलाक लेने के लिए लंबी प्रक्रिया है। हिन्दुस्तान ऐसा देश है जहां दो पत्नियां रखना अपराध माना जाता है, लेकिन दुनिया में एक देश ऐसा भी है, जहां दो पत्नियों के रखने पर आपको सरकार इनाम देने की घोषणा कर रही है। जी हां दुनिया में कई देश ऐसे हैं जहां ऐसी शादियों को प्रोत्साहित किया जाता है। उन्ही में से एक दुनिया का रईस माना जाने वाला देश जहां तेल का भंडार है। यानी संयुक्त अरब अमीरात जिसे लोग यूएई के नाम से भी जाना जाता है। वहां की सरकार ने दो बीवी रखने वाले लोगों को मकान भत्ता देने की घोषणा की है। साथ ही दूसरे इनाम देने जा रही है।

सभी धर्मों में यहां तक की कोर्ट में भी शादी करने पर भी धोखा देने और दूसरी औरत की ओर नहीं देखने का वचन लिया जाता है। लेकिन आप सोचिए की एक मुस्लिम देश अब खुद दो शादियां करने के लिए बढ़ावा दे रहा है। हालंकि मुस्लिम धर्म के शरियत में चार निकाह मान्य है।

बढ़ रही है कुंवारी लड़कियों की संख्या

स्थानीय मीडिया और खलीज टाइम्स के अनुसार यूएई में बीते कुछ सालों से लड़कियों की संख्या में खूब इजाफा हुआ है। ऐसे में लड़की की संख्या कम हो गई है। जिसके बाद देश में अविवाहित लड़कियों की बढ़ती संख्या बढ़ गई है। इसको देखते हुए सरकार पुरुषों से अपील की है, कि वो दूसरा निकाह भी करें। जिससे लड़कियों का घर बसे। इसके लिए बकायदा सरकार ने एक स्कीम तक बना दी है। यूएई के बुनियादी ढांचा विकास मंत्री डॉ. अब्दुल्ला बेलहैफ अल नुईमी ने फेडरल नेशनल कौंसिंल (FNC) के एक प्रोग्राम में इस बात की घोषणा की।

सरकार देगी घर बसाने में मदद

मंत्री ने स्कीम की सूचना देते हुए कहा की, उनके मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है कि जो व्यक्ति दो बीवी रखेगा, उसको शेख जायद हाउसिंग कार्यक्रम के तहत मकान भत्ता दिया जाएगा। जो की असल में दूसरी बीवी के लिए होगा। यानी यह एक पत्नी वाले परिवार को पहले से मिल रहे मकान भत्ते के अतिरिक्त होगा। दूसरी शादी करने पर डबल फायदा मिलेगा। बुनियादी मंत्री अब्दुल्ला ने बताया कि दूसरी पत्नी को भी पहली बीवी की तरह ही दर्जा दिया जाएगा।

दूसरी बीवी को भी पहली जैसी मान्यता

मंत्री ने कहा, ‘दूसरी बीवी के लिए भी उसी तरह के रहन-सहन की व्यवस्था होनी चाहिए, जैसा कि पहली बीवी के लिए होता है.’ उन्होंने कहा कि मकान भत्ता देने से लोग दूसरी शादी करने को प्रोत्साहित होंगे और UAE में अविवाहित महिलाओं की संख्या घटेगी। मंत्रालय यह चाहता है कि दूसरी बीवी को भी पहले बीवी की तरह ही मकान मिले।

गौरतलब है कि यूएई में कुंवारी लड़कियों की बढ़ती संख्या को लेकर एफएनसी के सदस्य चिंता जताते रहे थे। कुछ सदस्यों का तो यहां तक कहना था, कि लोगों के दूसरी शादी न करने से देश पर कर्ज का बोझ बढ़ रहा है।

You May Also Like

English News