कुछ ऐसी है इस धाम की महिमा जहां 6 महीने तक अपने आप से जलता रहता है मंदिर का दीपक

उत्तराखंड राज्य के रूद्रप्रयाग जिले में स्थित है केदारनाथ मंदिर। जो देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। मंदिर तीन ओर से केदारनाथ, खर्चकुंड और भरतकुंड पहाड़ियों से ढ़का हुआ है। इसके अलावा यहां मंदाकिनी, मधुगंगा, क्षीरगंगा, सरस्वती और स्वर्णगौरी 5 नदियों का संगम भी है। जिनमें से अब सिर्फ अलकनंदा और मंदाकिनी ही मौजूद हैं। सर्दियों में मंदिर पूरी तरह से बर्फ से ढ़क जाता है उस दौरान इसके कपाट बंद कर दिए जाते हैं और बैशाखी बाद खोले जाते हैं।

केदारनाथ का इतिहास

हिंदुओं के प्रसिद्ध चार धामों में से दो केदारनाथ और बद्रीनाथ उत्तराखंड में ही हैं। पुरानी कथानुसार हिमालय के केदार श्रृंग पर भगवान विष्णु के अवतार नर और नारायण तपस्या कर रहे थे। जिससे प्रसन्न होकर भगवान शंकर ने उन्हें दर्शन दिया और उनके कहे अनुसार ज्योतिर्लिंग के रूप में वहीं बसने का वर भी प्रदान किया।

You May Also Like

English News