कुलभूषण मामले में भारत ने दाखिल की नई याचिका

कुलभूषण मामले में भारत ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में नई याचिकाएं दायर की हैं.यह जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी. बता दें कि पाकिस्तान ने गत वर्ष अप्रैल में जासूसी के आरोप में कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई थी. जिसके खिलाफ भारत ने पहली बार गत वर्ष सितंबर में जवाब दाखिल किया था.नई दिल्ली  : कुलभूषण मामले में भारत ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में नई याचिकाएं दायर की हैं.यह जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी. बता दें कि पाकिस्तान ने गत वर्ष अप्रैल में जासूसी के आरोप में कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई थी. जिसके खिलाफ भारत ने पहली बार गत वर्ष सितंबर में जवाब दाखिल किया था.  उल्लेखनीय है कि कुलभूषण जाधव का मामला गत वर्ष तब सुर्ख़ियों में आया था, जब पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने उन्हें जासूसी के आरोप में मौत की सज़ा सुनाई थी.इस फैसले के खिलाफ भारत ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में गत वर्ष सितंबर में जवाब दाखिल किया था. इसके बाद पाकिस्तान ने 13 दिसंबर 2017 को इंटरनेशनल कोर्ट में केस दाखिल किया था.  बता दें कि भारत ने पाकिस्तान के जवाब में मंगलवार को दूसरी बार आईसीजे में लिखित जवाब पेश किया है.इसका पाकिस्तान को जवाब देने के लिए 17 जुलाई तक का समय दिया गया है.इसके पूर्व भारत ने गत वर्ष मई में पाक सैन्य अदालत के फैसले के खिलाफ आईसीजे में मामला दाखिल किया था. सुनवाई के बाद अंतरराष्ट्रीय अदालत ने कुलभूषण जाधव की सजा पर रोक लगाई थी. विदेश मंत्रालय के अनुसार अंतरराष्ट्रीय अदालत के 17 जनवरी के फैसले को दृष्टिगत रखते भारत ने जवाब दाखिल किया है. भारत कुलभूषण के अधिकारों की रक्षा के लिए भारत प्रयत्नशील है.

उल्लेखनीय है कि कुलभूषण जाधव का मामला गत वर्ष तब सुर्ख़ियों में आया था, जब पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने उन्हें जासूसी के आरोप में मौत की सज़ा सुनाई थी.इस फैसले के खिलाफ भारत ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में गत वर्ष सितंबर में जवाब दाखिल किया था. इसके बाद पाकिस्तान ने 13 दिसंबर 2017 को इंटरनेशनल कोर्ट में केस दाखिल किया था.

बता दें कि भारत ने पाकिस्तान के जवाब में मंगलवार को दूसरी बार आईसीजे में लिखित जवाब पेश किया है.इसका पाकिस्तान को जवाब देने के लिए 17 जुलाई तक का समय दिया गया है.इसके पूर्व भारत ने गत वर्ष मई में पाक सैन्य अदालत के फैसले के खिलाफ आईसीजे में मामला दाखिल किया था. सुनवाई के बाद अंतरराष्ट्रीय अदालत ने कुलभूषण जाधव की सजा पर रोक लगाई थी. विदेश मंत्रालय के अनुसार अंतरराष्ट्रीय अदालत के 17 जनवरी के फैसले को दृष्टिगत रखते भारत ने जवाब दाखिल किया है. भारत कुलभूषण के अधिकारों की रक्षा के लिए भारत प्रयत्नशील है.

You May Also Like

English News