कुश्ती: देश को मिला एक और भारत केसरी, नवीन को हरा कपिल ने जीता ख़िताब

नई दिल्ली।  पदमश्री और द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित रहे गुरु हनुमान के 117वें जन्मदिवस पर विशाल दंगल आयोजित किया गया था। इस दंगल में गुरू हनुमान अखाड़े के पहलवान कपिल धामा ने 90 किलो ग्राम से अधिक भारवर्ग में नवीन मोरे को हराकर गुरू हनुमान भारत केसरी खिताब अपने नाम किया। महिलाओं में 60 किलोग्राम भारवर्ग से अधिक के मुकाबले में दिव्या काकरण ने जीत हासिल की।धामा को भारत केसरी खिताब जीतने पर एक लाख रुपए की पुरस्कार राशि मिली जबकि दिव्या को 41 हजार रुपए का पुरस्कार दिया गया।

60 किलोग्राम भारवर्ग में नरेश अखाड़े के रवींद्र पहले और प्रवीण दूसरे स्थान पर रहे। 70 किलोग्राम भारवर्ग में गुरू हनुमान अखाड़े के मंजीत को पहला और अमित को दूसरा स्थान मिला।

80 किलोग्राम भारवर्ग में गुरू हनुमान अखाड़े के राजेश भाटी को पहला और सचिन राठी को दूसरा तथा 90 किलोग्राम भारवर्ग में छत्रसाल स्टेडियम के दीपक को पहला और अमित को दूसरा स्थान मिला। 

महिलाओं के 53 किलोग्राम भारवर्ग में हरियाणा के जींद की अंजू विजेता बनी। 60 किलोग्राम भारवर्ग में निडानी की अंशू ने खिताब जीता।द्रोणाचार्य अवार्डी और गुरू हनुमान अखाड़े के संचालक महासिंह राव के मुताबिक इस दंगल में कुल 230 पुरुष पहलवानों और 70 महिला पहलवानों ने हिस्सा लिया और भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने प्रतियोगिता का उद्घाटन किया।

You May Also Like

English News