केजरीवाल की शीला दीक्षित को खुली चुनौती

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने शिला दीक्षित को चुनौती देते हुए कहा कि “कहा कि आप मोदी राज में एक साल भी दिल्ली की सरकार को चला कर दिखा दीजिये.” बता दें, दिल्ली की सरकार ने LG और केंद्र सरकार पर दिल्ली में काम न करने का अड़ंगा लगाया है. इसी बात को लेकर शिला दीक्षित ने अरविदं केजरीवाल से कहा है कि यह काम न करने के बहाने है. दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने शिला दीक्षित को चुनौती देते हुए कहा कि "कहा कि आप मोदी राज में एक साल भी दिल्ली की सरकार को चला कर दिखा दीजिये." बता दें, दिल्ली की सरकार ने LG और केंद्र सरकार पर दिल्ली में काम न करने का अड़ंगा लगाया है. इसी बात को लेकर शिला दीक्षित ने अरविदं केजरीवाल से कहा है कि यह काम न करने के बहाने है. इस बारे में अरविन्द केजरीवाल ने शिला दीक्षित को ट्वीट के माध्यम से चुनौती दी है. उन्होंने लिखा कि "शीला जी, आपके टाइम जनता पानी और बिजली बिलो से रो दी थी। सरकारी स्कूलों अस्पतालों का बुरा हाल था। प्राइवट स्कूल मनमानी फ़ीस बढ़ाते थे। हमने ये सब ठीक किया। आपके समय 10 साल केंद्र में आपकी अपनी सरकार,अपने LG थे। मैं चैलेंज करता हूँ एक साल मोदी राज में दिल्ली चला के दिखा दो." बता दें, एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए शिला दीक्षित ने कहा था कि दिल्ली केंद्र द्वारा आंशिक रूप से शासित होने वाला एक केंद्र शासित क्षेत्र है. दिल्ली की सरकार को हमेशा केंद्र के साथ मिलकर काम करना होता है. खुद के बारे में बताते हुए शिला दीक्षित कहती है कि उन्होंने खुद 15 साल केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम किया, इस मामले में अरविन्द केजरीवाल ने उन्हें चुनौती दी है.

इस बारे में अरविन्द केजरीवाल ने शिला दीक्षित को ट्वीट के माध्यम से चुनौती दी है. उन्होंने लिखा कि “शीला जी, आपके टाइम जनता पानी और बिजली बिलो से रो दी थी। सरकारी स्कूलों अस्पतालों का बुरा हाल था। प्राइवट स्कूल मनमानी फ़ीस बढ़ाते थे। हमने ये सब ठीक किया। आपके समय 10 साल केंद्र में आपकी अपनी सरकार,अपने LG थे। मैं चैलेंज करता हूँ एक साल मोदी राज में दिल्ली चला के दिखा दो.”

बता दें, एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए शिला दीक्षित ने कहा था कि  दिल्ली केंद्र द्वारा आंशिक रूप से शासित होने वाला एक केंद्र शासित क्षेत्र है. दिल्ली की सरकार को हमेशा केंद्र के साथ मिलकर काम करना होता है. खुद के बारे में बताते हुए शिला दीक्षित कहती है कि उन्होंने खुद 15 साल केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम किया, इस मामले में अरविन्द केजरीवाल ने उन्हें चुनौती दी है. 

You May Also Like

English News