केजरीवाल के 2 करोड़ लेने की शिकायत ACB से करेंगे कपिल, बनेंगे सरकारी गवाह

जनलोकपाल आंदोलन के गर्भ से पैदा हुई आम आदमी पार्टी (आप) के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भ्रष्टाचार का बड़ा आरोप लगा है। दिल्ली सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री व आप के संस्थापक सदस्य कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर दो करोड़ रुपये का भ्रष्टाचार बम फोड़ा है। वहीं, मंत्री पद से हटाए जाने के बाद कपिल मिश्रा सोमवार को एसीबी ऑफिस जाएंगे। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। ये भी पढ़े: भारत के रुख के सामने नरम पड़ा गया चीन, बदल सकता है CPEC का नाम

मिश्रा ने कहा कि सोमवार सुबह वह एक बार फिर एसीबी के दफ्तर में जाएंगे। वहां वह मामले की शिकायत करने के साथ गवाह बनने की बात करेंगे। कपिल मिश्रा ने दावा किया कि एसीबी को वह केजरीवाल के उन दो करीबियों का नाम भी बतायेंगे, जिनकी वजह से घोटाले की जांच रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं हो सकी।

मिश्रा ने बताया कि उन्होंने इसके बारे में केजरीवाल से पूछा तो केजरीवाल ने जवाब देने से इनकार करते हुये नसीहत दी कि राजनीति में कुछ बातें होती हैं जो बताई नहीं जा सकतीं।

बकौल कपिल मिश्रा, बावजूद इसके मैंने सवाल किया कि पैसा कहां से आया, नगद पैसा क्यों था। साथ ही सलाह भी दी कि गलती किसी से भी हो सकती है, आप माफी मांगिए। मैंने कहा कि मामले की शिकायत एसीबी करनी चाहिये। मिश्रा ने कहा कि सुबह दोबारा से टैंकर घोटाले की शिकायत एसीबी से की। जिसके बाद मंत्री पद से हटा दिया गया। ऐसे में यह कहना गलत है कि मंत्री पद से हटाये जाने बाद वह मीडिया में आये। हालांकि, उन्होंने कहा कि अभी तक इसकी कोई औपचारिक सूचना सरकार से नहीं मिल सकी है।     
 
कपिल मिश्रा यही नहीं रूके। उन्होंने कहा कि सत्येंद्र जैन ने केजरीवाल के करीबी रिश्तेदार के जमीन सौदे के लिए 50 करोड़ रुपये की डील कराई थी। मिश्रा ने सत्येंद्र जैन के सभी विभागों को भ्रष्टाचार का अड्डा बताया। साथ ही कहा कि उनके मंत्रालय की सभी फाइलों को सार्वजनिक करने से पता चल जायेगा कि किस तरह जैन ने घोटाला किया है।  
    
कपिल मिश्रा ने पैसे के लेन-देन के समय और मौके पर उनकी मौजूदगी से जुड़े सवालों पर कहा कि इसकी जानकारी उन्होंने सुबह उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर इस बारे में जानकारी दे दी है। इसके अलावा दूसरी जांच एजेंसियों को भी जरूरत पड़ने पर सूचित करूंगा।    

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पानी की आपूर्ति बेहद खराब है। विधायकों को रोजाना गाली सुनने को मिल रही है। मिश्रा को उनके खराब प्रदर्शन के कारण हटाया गया। लेकिन मंत्री पद से हटने के बाद वह वेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। इस तरह के आरोपों पर कोई यकीन नहीं कर सकता।   

 कुमार विश्वास ने भी केजरीवाल का बचाव किया है। उन्होंने कहा, ‘मैं केजरीवाल को पिछले 12 सालों से जानता हूं। मैं क्या, केजरीवाल का भयानक दुश्मन भी यकीन नहीं कर सकता कि वह  भ्रष्ट हो सकते हैं। केजरीवाल ने पहले भी कहा कि अगर वह भ्रष्टाचार करते हैं तो उन्हें पार्टी से निकाल देना चाहिये। अगर कपिल मिश्रा के पास कोई सबूत है तो उसे सार्वजनिक करना चाहिये। इस तरह का आरोप गलत है। जैन से कागजाद मांगे हैं। पीएसी की बैठक जब भी होगा, जाऊंगा। निजी आस्थाओं के साथ भ्रष्टाचार की लड़ाई नहीं लड़ूंगा।  

You May Also Like

English News