केजरीवाल सरकार के फैसले पर राजनीतिक हंगामा, शुरू हुआ ट्विटर वॉर

दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द करने के केजरीवाल सरकार के फैसले पर राजनीतिक हंगामा शुरू हो गया है. इसकी शुरुआत तब हुई जब दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर सीएम अरविंद केजरीवाल की संयुक्त सचिव असवथी मुरलीधरन से उलझ गए.केजरीवाल सरकार के फैसले पर राजनीतिक हंगामा, शुरू हुआ ट्विटर वॉरशराबबंदी से बढ़ा सांप्रदायिक सौहार्द, पूरे देश में हो लागू: नीतीश कुमार

मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने के फैसले को गलत बताने की ख़बर पर सीएम केजरीवाल की संयुक्त सचिव ने मनोज तिवारी से पूछ लिया कि ‘साहब कभी ग़रीब जनता की भी सुन लिया करो’. 

असवथी मुरलीधरन को मनोज तिवारी ने जवाब देते हुए लिखा कि भाई मैं समझने की कोशिश कर रहा हूँ कि फिर तोमर की फ़र्ज़ी डिग्री के लिए केजरीवाल जी को सस्पेंड क्यों नहीं किया?

भाई मैं समझने की कोशिश कर रहा हूँ कि फिर तोमर की फ़र्ज़ी डिग्री के लिये @ArvindKejriwal जी को suspend क्यूँ नहीं किया ..? सैकड़ों ग़रीब employee बेरोज़गार! सैकड़ों गम्भीर मरीज़ सड़क पे ! इन ग़रीबों का क्या ? जो ग़लती करे उसको दो..कड़ी सज़ा दो.. और ग़रीबों के इलाज की policy  

मनोज तिवारी के ट्वीट का जवाब देते हुए असवथी मुरलीधरन ने लिखा ‘आप इधर उधर क्यूं घूमा रहे हो? सीधा सीधा बताइए आप दिल्ली की ग़रीब जनता के साथ हैं या मैक्स हॉस्पिटल के साथ.

आप इधर उधर क्यूँ घूमा रहे हो? सीधा सीधा बताइए आप दिल्ली की ग़रीब जनता के साथ है या लूटेरे #Maxhospital के साथ। जवाब बिल्कुल सीधा दीजियेगा क्योंकि जनता को लगने लगा है कि #MaxHospital वालो से सेटिंग तो नहीं हो गई  

इस दौरान दिलचस्प बात यह रही कि अरविंद केजरीवाल भी पूरी बातचीत को अपनी ट्विटर पर शेयर करते नज़र आए. केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के विधायक संजीव झा के लगभग आधा दर्जन ट्वीट में से चुनिंदा ट्वीट को भी शेयर किया.

.@ManojTiwariMP जी सम्मान के साथ मैं पूछना चाहता हूँ कि इतनी बेचैनी क्यों है? #MaxHospital के साथ कैसी Deal हुई है आपकी? बात जहाँ तक गरीबों की है तो आपको और आपकी पार्टी को उनकी चिंता होती तो ये न कहा जाता कि ‘अगस्त में तो बच्चे मरते हैं’! 1/N

संजीव झा ने अपने ट्वीट में यह भी कहा कि अंत में सिर्फ इतना कहेंगे कि ये शिक्षकों, लाइन में खड़ी जनता और मृतक के परिवारों की भावना का मज़ाक उड़ाना छोड़िए. जो साहसिक कदम दिल्ली की सरकार ने उठाया है उसके साथ खड़े होइए!

अंत में सिर्फ इतना कहेंगे कि ये शिक्षकों, लाइन में खड़ी जनता और मृतक के परिवारों की भावना का मज़ाक उड़ाना छोड़िए!

जो साहसिक कदम दिल्ली की सरकार ने उठाया है उसके साथ खड़े होइए! 

आम आदमी पार्टी के विधायक और नेता सोशल मीडिया पर फिलहाल दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी की घेराबंदी करते नज़र आ रहे हैं. इससे इतना साफ है कि मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने के फैसले पर राजनीति की शुरुआत हो चुकी है, देखना होगा इसका अंत कहां होता है.

You May Also Like

English News