बहुचर्चित उपन्यास ‘ द गॉडफादर’ की इस लाइन के कारण फंसे नवाज शरीफ

इस्लामाबादः पनामा गेट मामले में पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय के फैसले में मारिओ पुजो के बहुचर्चित उपन्यास ‘द गॉडफादर’ की प्रसिद्ध पंक्ति ‘हर सफलता के पीछे अपराध होता है’ (Behind every great fortune there is a crime) का जिक्र किया गया है। न्यायालय की इस टिप्पणी से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ परिवार की मुश्किलें और बढ़ गई  हैं क्योंकि विपक्ष ने अपना अभियान और तेज कर दिया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री और उनके परिवार को धनशोधन और भ्रष्टाचार का आरोपी बनाया गया है। इस मामले में 540 पृष्ठ के फैसले की शुरूआत एक उद्धरण से हुई, जो वास्तव में 19वीं सदी के फ्रेंच लेखक होनोरे दी बाल्जाक की पंक्ति है। उच्चतम न्यायालय की पीठ ने 20 अप्रैल के अपने फैसले में शरीफ परिवार के गल्फ स्टील मिल से जुड़े धन को लेकर भी सवाल उठाया है।
 
 पंजाब प्रांत के कानून मंत्री राणा सनाउल्ला ने कहा, ‘‘पनामा फैसले में गॉडफादर को उद्धत किया जाना परेशान करने वाला है। हमें कुरान से मार्गदशन चाहिए ना कि गॉडफादर से।’’ उन्होंने कहा कि ‘ये टिप्पणी हमें पीड़ा पहुंचाती है।’ मंत्री ने कहा कि शरीफ परिवार उच्चतम न्यायालय की टिप्पणी के खिलाफ समीक्षा याचिका दायर पर करने पर विचार कर रहा है।  

बता दें कि मारिओ पुजो का ये चर्चित उपन्यास एक माफिया की कहानी है। इस उपन्यास में बताया गया है कि अमरीका में कैसे सरकारी संरक्षण में माफिया पनपता है। पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस पनामा पेपर लीक केस में इस पंक्ति का जिक्र कर दिया जाने के बाद पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियां खासकर पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ ने पीएम नवाज शरीफ पर हमला तेज कर दिया है और कोर्ट की इस टिप्पणी को भ्रष्टाचार के पोषक के रूप में जोड़कर देख रहा है।

You May Also Like

English News