कैबिनेट फेरबदल: मोदी की राजनीति पर भड़की शिवसेना, कहा- लगता है बहुमत का बहुत घमंड है

कैबिनेट फेरबदल पर शिवसेना ने निशाना साधा। संजय राऊत ने कहा कि यह कैबिनेट फरेबदल और इससे पहले जो बदलाव हुआ था उसमें केवल बीजेपी को शामिल किया गया था। उन्होंने कहा कि यह एनडीए नहीं बीजेपी का विस्तार है। संजय ने आगे कहा कि हो सकता बीजेपी को बहुमत का घमंड हो। लेकिन हम इसपर ध्यान नहीं दे रहे। उनका बहुमत है, तो अपने हिसाब से सरकार चलाएं। जदयू की तरफ से केसी त्यागी ने कहा कि यह बीजेपी का विस्तार है। उन्होंने कहा वह इसपर ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते।कैबिनेट फेरबदल: मोदी की राजनीति पर भड़की शिवसेना, कहा- लगता है बहुमत का बहुत घमंड है

ये भी पढ़े: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने केनेथ जस्टर को भारत में अमेरिका का राजदूत नामित करने की घोषणा

मंत्रिमंडल विस्तार में चार मंत्रियों का प्रमोशन हुआ। धर्मेंद्र प्रधान, पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी के अच्छे काम के लिए उनका प्रमोशन हुआ। उनके अलावा 9 लोगों ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली। इसमें अलफोन्स कन्नाथनम, डॉ सत्यपाल सिंह, गजेंद्र सिंह शेखावत, हरदीप सिंह पुरी, राज कुमार सिंह, अनंत कुमार हेगड़े, वीरेंद्र कुमार, अश्विनी कुमार चौबे, शिव प्रसाद शुक्ला ने शपथ ली।

ये भी पढ़े: आज होगा कैबिनेट का विस्तार इन ‘P’ के आधार पर PM मोदी चुनने जा रहे हैं नए सदस्य

नौ मंत्रियों में शिव प्रताप शुक्ला (यूपी से राज्य सभा सांसद), अश्वनी कुमार चौबे ( बिहार के बक्सर से लोक सभा सांसद), वीरेंद्र कुमार (मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ से लोकसभा सांसद), अनंत कुमार हेगड़े (कन्नड से सांसद), आर के सिंह (बिहार के आरा से लोकसभा सांसद), हरदीप सिंह, गजेंद्र सिंह शेखावत (राजस्थान के जोधपुर से सांसद), सत्यपाल सिंह (यूपी के बागपत से लोकसभा से सांसद) और अलफोन्स कन्नाथनम डीडीए के चेयरमैन रह चुके हैं।

You May Also Like

English News