कैराना में भाभी तबस्सुम हसन के पक्ष में चुनावी मैदान से बाहर हो गए देवर कंवर हसन

कैराना लोकसभा उप चुनाव में राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी तबस्सुम हसन के पक्ष में आज उनके देवर कंवर हसन मैदान से हट गए हैं। लोकदल प्रत्याशी कंवर हसन ने महागठबंधन प्रत्याशी तबस्सुम हसन को समर्थन देने के ऐलान किया है।कंवर हसन ने लोकदल पार्टी से कैराना लोकसभा सीट से दावेदारी की थी, जिससे गठबंधन प्रत्याशी के ऊपर संकट मंडरा रहा था। आज आरएलडी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की पहल पर कंवर हसन ने गठबंधन प्रत्याशी यानी अपनी भाभी तबस्सुम हसन को समर्थन दे दिया। कंवर हसन के समर्थन के बाद भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं क्योंकि जिन वोटों का बंटवारा भाभी और देवर को लेकर हो रहा था, अब वह एक ही प्लेटफार्म पर आता नजर आ रहा है।  शामली के जसाला गांव में जयंत चौधरी ने भाभी और देवर के बीच चल रही तनातनी को शांत कराया। जयन्त की इस मीटिंग में नाहिद हसन के चाचा अनवर हसन व चाचा कंवर हसन सहित सैकड़ो की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे। कैराना में दोनों साथ मिलकर चुनाव प्रचार करेंगे और गठबंधन प्रत्याशी के लिए वोट मांगेंगे।

कैराना लोकसभा उपचुनाव में इस बार लोकदल प्रत्याशी कंवर हसन के आवास पर राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की मौजूदगी में कंवर हसन ने महागठबंधन की प्रत्याशी व राष्ट्रीय लोकदल के चिन्ह पर चुनाव लड़ रहीं तबस्सुम हसन को समर्थन देने की घोषणा कर दी। आज यहां जयंत चौधरी कैराना लोकसभा उपचुनाव में लोकदल प्रत्याशी कंवर हसन के आवास मोहनलाल दरमियान में पहुंचे और उन्हें रालोद प्रत्याशी तबस्सुम हसन के पक्ष में बैठाने का काम किया।

जयंत चौधरी ने कंवर हसन को राष्ट्रीय लोकदल की सदस्यता ग्रहण कराई। कंवर हसन ने कहा की जयंत चौधरी ने हमारे परिवार को फिर से एक किया है। हम सब मिलकर क्षेत्र की सेवा करेंगे। उन्होंने तबस्सुम हसन के पक्ष में वोट करने का आह्वान किया। तबस्सुम हसन यहां से चुनावी मैदान में उतरने के बाद वापस होने वाले कंवर हसन की भाभी हैं। आज जयंत चौधरी की मौजूदगी में कंवर हसन के बड़े भाई नगर पालिका चेयरमैन हाजी अनवर हसन ने भी रालोद का दामन थाम लिया

कैराना लोकसभा उपचुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज है। यहां पर रोज नई दोस्ती बनती दिखाई दे रही है। पिछले दिनों इमरान मसूद के यहां से अपनी राजनीतिक विरोधी तबस्सुम हसन को कैराना में समर्थन देने की खबर अभी चर्चा में चल ही रही थी कि आज तबस्सुम हसन को लोकदल प्रत्याशी कंवर हसन का समर्थन मिल गया। कंवर हसन तो तबस्सुम हसन के देवर हैं और चुनाव में उनके खड़े होने से गठबंधन को वोट कटने का डर सता रहा था। कंवर के इस कदम से अब भाजपा के लिए मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं।

कंवर हसन ने लोकदल पार्टी से कैराना लोकसभा सीट से दावेदारी की थी, जिससे गठबंधन प्रत्याशी के ऊपर संकट मंडरा रहा था। आज आरएलडी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की पहल पर कंवर हसन ने गठबंधन प्रत्याशी यानी अपनी भाभी तबस्सुम हसन को समर्थन दे दिया। कंवर हसन के समर्थन के बाद भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं क्योंकि जिन वोटों का बंटवारा भाभी और देवर को लेकर हो रहा था, अब वह एक ही प्लेटफार्म पर आता नजर आ रहा है।

शामली के जसाला गांव में जयंत चौधरी ने भाभी और देवर के बीच चल रही तनातनी को शांत कराया। जयन्त की इस मीटिंग में नाहिद हसन के चाचा अनवर हसन व चाचा कंवर हसन सहित सैकड़ो की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे। कैराना में दोनों साथ मिलकर चुनाव प्रचार करेंगे और गठबंधन प्रत्याशी के लिए वोट मांगेंगे। 

You May Also Like

English News