कैश वैन से एक करोड़ रुपये लेकर बदमाश भागे वैन चालक व गार्ड को भनक तक नहीं लगी

लखनऊ , 16 दिसम्बर महानगर के कोतवाली से चंद मीटर दूरी पर खड़ी बैंक आफ इण्डिया की कैश वैन से बदमाश एक करोड़ रुपये से भरा बक्सा लेकर फरार हो गये। हैरानी की बात यह रही कि वैन के पास मौजूद चालक व गार्ड को इस बात की भनक तक नहीं लग सकी। एक पान दुकान में जब बदमाशों को बक्सा लेकर भागते देखा तो शोर मचाया। इसके बाद सभी लोग बदमाशों के पीछे दौड़े पर बदमाश भीड़ का फायदा उठाकर फरार हो चुके थे। सूचना पर महानगर पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम भी पहुंच गयी।
cash-van
एसपी टीजी दुर्गेश कुमार ने बताया कि विभूतिखण्ड इलाके में बैंक आफ इण्डिया का जोनल दफ्तर है। गुरुवार की दोपहर करीब 12 बजे कैशियर दीपांशू, गार्ड इंदर सिंह, केदारनाथ व चालक सुनील कुमार बैंक से एक करोड़ से अधिक की नकदी बैंकों की अलग-अलग शाखा में पहुंचाने के लिए मार्शल गाड़ी से निकले थे। वह लोग सबसे पहले सर्वोदयनगर और फिर खुर्रमनगर ब्रांच पहुंचे। वह पर नयी करेंसी के नोट दिये गये और बैंक में जमा हुई पुरानी करेंसी ली गयी। इसके बाद वह सभी लोग सीधे गोल मार्केट चौराहे पर स्थित बैंक आफ इण्डिया की शाखा पहुंचे। कैशियर दीपांशू व गार्ड केदारनाथ नई करेंसी का बक्सा लेकर बैंक की ब्रांच के अंदर चले गये। पुरानी करेंसी से भरा बक्सा मार्शल गाड़ी में ही मौजूद था। गाड़ी में चालक सुनील व गार्ड इंदर सिंह थे। बताया जाता है कि इस बीच कुछ बदमाश चुपके से मार्शल गाड़ी के पास पहुंचे और एक साइड का दरवाजा खोलकर गाड़ी में रखा पुरानी करेंसी से भरा बक्सा निकाला और लेकर भागने लगे।
इस बीच कैशियर दीपांशू व गार्ड केदारनाथ वहां पहुंचे गये। हैरानी की बात यह रही कि वैन में मौजूद किसी भी कर्मचारी को बक्सा गायब होने की भनक तक नहीं लगी। इसी बीच एक पान दुकानदार ने बदमाशों को गाड़ी से बक्सा लेकर भागते हुए देखा तो शोर मचा दिया। शोर होते ही मार्शल गाड़ी में मौजूद गार्ड, कैशियार व चालक बदमाश के पीछे दौड़ पड़े। बदमाश गोल मार्केट चौराहे से निशातगंज की तरफ भागा और कुछ ही मिनटों में वह गायब हो गया। कैशियार, गार्ड व चालक बदमाश को इधर-उधर तलाशते रहे पर कोई पता नहीं चल सका। गायब हुए बक्से में एक करोड़ रुपये 1000 व 500 के पुराने नोट थे। इसके बाद उन लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। दिनदहाड़े कैश वैन से इतनी बड़ी रकम गायब होने की सूचना मिलते ही मौके पर एसपी टीजी, सीओ महानगर विशाल विक्रम सिंह, एसपी क्राइम डाक्टर संजय कुमार, महानगर पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम भी पहुंच गयी। पुलिस ने भी बदमाशों को इधर-उधर काफी तलाशा पर कोई पता नहीं चल सका। 
 
 
 
 

You May Also Like

English News