कोरिया के ‘नो-मैन्स’ लैंड का दौरा करेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप?

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब नॉर्थ कोरिया से आर-पार के मूड में आ गए हैं. मंगलवार देर रात अमेरिकी मिलिट्री के बॉम्बर्स ने नॉर्थ कोरिया के पेनिसुला इलाके के ऊपर उड़े. अब डोनाल्ड ट्रंप खुद नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बॉर्डर के बीच बने ‘नो मैंस लैंड’ में जा सकते हैं.कोरिया के 'नो-मैन्स' लैंड का दौरा करेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप? CBI ने सुनारिया जेल में 3 घंटे राम रहीम से की पूछताछ, पसीना पोंछता रहा बाबा

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने नॉर्थ कोरिया के खिलाफ एक्शन लेने पर टॉप मिलट्री एडवाइजर से मुलाकात की है. इस बैठक में उन्होंने नॉर्थ कोरिया के आक्रामक रुख का जवाब किस तरह दिया जाए इस पर चर्चा की है. बता दें कि नॉर्थ कोरिया फरवरी से लेकर अभी तक 15 टेस्ट में 22 मिसाइल फेंक चुका है. 

ट्रंप जल्द ही अपनी एशिया यात्रा पर आने वाले हैं. इस दौरान वे चीन, जापान, वियतनाम, फिलीपींस भी जाएंगे. कहा जा रहा है कि अंग्रेजी न्यूज़ एजेंसी द गार्जियन के अनुसार, इसी बीच ट्रंप demilitarised zone (DMZ) जा सकते हैं. यह इलाका साउथ कोरिया और नॉर्थ कोरिया के बॉर्डर पर है. कहा जाता है कि इस बॉर्डर पर सबसे ज्यादा आर्मी तैनात रहती है.

बड़े जवाब की तैयारी में ट्रंप?

मंगलवार की देर रात अमेरिकी मिलिट्री के बॉ़म्बर्स ने नॉर्थ कोरिया के पेनिसुला इलाके के ऊपर फ्लाई किया था. अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की. बता दें कि ऐसा यूएस के मिलट्री प्लेन ने तब ऐसा किया जब कुछ देर पहले ही प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने मीटिंग की थी. उस मीटिंग में उन्होंने अधिकारियों के साथ इस बात पर चर्चा की थी कि नॉर्थ कोरिया की किसी धमकी का कैसे जवाब दिया जाए?

आ चुकी है US की टीमें 

साउथ कोरिया की एक न्यूज़ एजेंसी के अनुसार, 1950-53 में चले 3 साल के युद्ध के बाद इस नो मैंस लैंड को बनाया गया था. जिसके बाद से ही यह क्षेत्र काफी संवेदनशील इलाका माना जाता है. एजेंसी के अनुसार, अमेरिका की ओर से पिछले महीने ही कुछ टीमें इन जगहों की जांच करने आ चुकी थी.

टूरिस्ट प्लेस भी है DMZ

DMZ को यूं तो दुनिया का सबसे खतरनाक क्षेत्र माना जाता है. लेकिन यह एक टूरिस्ट प्लेस भी है. अंग्रेजी न्यूज़ एजेंसी द गार्जियन के अनुसार, आप साउथ कोरिया की ओर से यहां पर जा सकते हैं, जहां से आपको नॉर्थ कोरिया भी दिखाई पड़ता है. आप वहां पर तस्वीर खींच सकते हैं, लेकिन वहां पर किसी सैनिक से बात नहीं कर सकते हैं.  

कितने ताकतवर हैं अमेरिकी बॉम्बर्स

जिन अमेरिकी एयरफोर्स के दो बॉम्बर्स B-1B और फाइटर प्लेन  F-15K ने उड़ान भरी. ये साउथ कोरिया के गुआम एयरबेस पर अपना ठिकाना बनाए हुए हैं. बुधवार को साउथ कोरिया के ज्वाइंट चीफ की ओर से जारी बयान में बॉम्बर्स के फ्लाई करने की पुष्टि की गई. साउथ कोरिया के एयरस्पेस में प्रवेश के बाद दो बॉम्बर्स ने पूर्वी तट पर एयर-टू-ग्राउंड मिसाइल ड्रिल भी की.

You May Also Like

English News