कोहली 38 बार बदल चुके हैं प्लेइंग इलेवन, इस बार नहीं लेंगे रिस्क!

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि आर अश्विन कूल्हे की चोट से उबर गए हैं और इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में खेलने के लिए फिट हैं. साथ ही उन्होंने संकेत दिया कि वह अंतिम एकादश में कोई बदलाव नहीं करेंगे.कोहली 38 बार बदल चुके हैं प्लेइंग इलेवन, इस बार नहीं लेंगे रिस्क!

कप्तान कोहली पिछले 38 टेस्ट मैचों के प्लेइंग इलेवन में बदलाव कर चुके हैं, जबकि भारत ने पिछले 45 टेस्ट में अपनी टीम में बदलाव किए हैं. कोहली ने पत्रकारों से कहा, ‘टेस्ट में खेलने के लिए हर कोई फिट है. अश्विन भी अच्छी तरह उबर चुके हैं. उन्होंने अभ्यास सत्र में अच्छा अभ्यास किया. वह खेलने के लिए फिट है.’

उन्होंने साउथम्प्टन टेस्ट से एक दिन पहले कहा, ‘हमेशा लगातार बदलाव नहीं किए गए. इस दौरान कुछ चोटें भी होती थीं, जिनके बारे में बात नहीं की गई. यह दोनों का मिश्रण रहता था. अब परिस्थितियों को देखते हुए हमें कुछ भी बदलने की जरूरत महसूस नहीं हो रही.’

भारतीय टीम 0-2 से पिछड़ने के बाद नॉटिघंम में तीसरे टेस्ट में 203 रनों से जीत के साथ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में वापसी करने में सफल रही. कोहली ने अपनी टीम से कड़ी मेहनत जारी रखते हुए इसी लय को चौथे टेस्ट में बनाये रखने की बात कही.

भारत के 2014 इंग्लैंड दौरे को याद करते हुए कोहली ने कहा, ‘हमारे पास शायद शुरू में मिली बढ़त (लॉर्ड्स पर 1-0 की जीत के बाद) का फायदा उठाने का अनुभव नहीं था. चार साल बाद मुझे यही लगता है.’

उन्होंने कहा, ‘इस समय हम बहुत ही अच्छी स्थिति में हैं क्योंकि हमने सीरीज में सही समय पर लय हासिल की. 0-2 से पिछड़ने के बाद ऐसा खेल दिखाना शानदार है क्योंकि हर किसी ने सोचा होगा कि हमारे खिलाफ क्लीन स्वीप होगा या हमें रौंद दिया जाएगा.’

इस मैदान पर तीसरे टेस्ट की मेजबानी होगी और इंग्लैंड ने यहां भारत के खिलाफ 2014 में 266 रन से जीत दर्ज की थी. कोहली ने अपनी टीम से इस जीत की लय को जारी रखकर इसका फायदा उठाने की बात कही.

उन्होंने कहा, ‘क्रिकेटर के तौर पर हम समझ जाते हैं कि कब टेस्ट मैच आपकी पकड़ से दूर जा रहा होता है और हम इसे महसूस करने के बारे में भी बात करते हैं, ताकि सुनिश्चित कर सकें कि हम उन अहम क्षणों का फायदा उठाएं जैसा हमने नॉटिंघम में किया था.’

इस चौथे टेस्ट के लिए हरी पिच तैयार की गई है, जिसे भारतीय तेज गेंदबाजों के मजबूत पक्ष के मुफीद होना चाहिए. हालांकि कोहली ने तेज गेंदबाजी आक्रमण की संभावना खारिज कर दी. उन्होंने कहा, ‘अगर जोहानिसबर्ग जैसी पिच हो तो आपको सभी तेज गेंदबाज उतारने से गुरेज नहीं होता. लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह पिच जोहानिसबर्ग की पिच के करीब है.’

You May Also Like

English News