क्या आपको पता है इस मंदिर में होती है मोटरसाइकिल की पूजा, दूर-दूर से आते हैं लोग…

यह बाइक जिस शख्स की थी, वह अब इस दुनिया में नहीं है। कहते हैं जब-जब इसे यहां से हटाने की कोशिश की गई, यह पता नहीं कहां से, खुद ब खुद इसी जगह पर आ गई। किस्सा करीब 30 साल पुराना है जब इस बाइक में किसी दिव्य आत्मा के होने की बात निकली थी…क्या आपको पता है इस मंदिर में होती है मोटरसाइकिल की पूजा, दूर-दूर से आते हैं लोग...जानिए हर सावन के महीने में इस मंदिर में मांगने से पहले ही बाबा पूरी कर देते हैं मुराद…

लोग बताते हैं कि 23 दिसंबर 1988 को यहां ओम सिंह राठौर नाम के 23 वर्षीय लड़के की बाइक एक्सिडेंट में मौत हो गई थी। वह इसी रॉयल एनफील्ड 350सीसी बाइक पर सवार था जब यह पेड़ से दुर्घटनाग्रस्त हो गई और मौके पर ही मौत हो गई। एक्सिडेंट स्पॉट से पुलिस इस बाइक को थाने ले गई। दूसरे दिन बाइक वहां से गायब थी… 

पुलिस ने छान-बीन शुरू की तो पाया कि बाइक उसी जगह मौजूद है जहां एक्सिडेंट हुआ था। पुलिस दोबारा अपने साथ इस मोटरसाइकिल को थाने ले आई। इस बार पेट्रोल निकाल दिया गया और चेन से लॉक कर दिया गया। फिर भी बाइक दूसरी सुबह उसी स्पॉट पर देखी गई। 

धीरे-धीरे लोगों ने मान लिया कि इस बाइक में कोई दिव्य शक्ति है और इसकी पूजा करने लगे। फिर यहां एक मंदिर भी बनवा दिया गया। लोग इसे बुलेट बाबा का मंदिर या ओम बन्ना मंदिर कहते हैं। 

राजस्थान के रोपर जिले में जोधपुर-पाली हाइवे (NH-50) के पास पाली जिले में मौजूद इस मंदिर से गुजरने वाले यात्री यहां रुककर दर्शन जरूर करते हैं। जिस पेड़ से मोटरसाइकिल का एक्सिडेंट हुआ लोग उसकी भी पूजा करते हैं।

 

You May Also Like

English News