क्या आपको भी सोते समय लगते हैं झटके, जानिए मतलब

एक थकान भरे दिन के बाद सुकून भरी नींद लेना हर व्यक्ति की चाहत होती है. लेकिन सोने के बाद कुछ लोगों को झटके महसूस होते हैं. क्या कभी आपने यह जानने की कोशिश की है कि आखिर ऐसा क्यों होता है?  एक स्टडी के मुताबिक, 60 से 70 फीसदी लोगों को सोने के बाद झटके महसूस होते हैं. ये झटके उस समय महसूस होते हैं जब व्यक्ति कच्ची नींद में होता है. यानी ना तो पूरी तरह उठा हुआ होता है और ना गहरी नींद में होता है.क्या आपको भी सोते समय लगते हैं झटके, जानिए मतलब

अलग-अलग लोग इसके पीछे अलग-अलग वजह बताते हैं. कुछ लोगों का कहना है कि उनके शरीर में तब झटके आते हैं, जब वे सपने में गिर रहे होते हैं या किसी उलझन में होते हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार, सोते समय मांसपेशियों में ऐंठन होने कारण हमें झटके महसूस होते हैं. साथ ही यह भी बताया गया है कि मांसपेशियों में ऐंठन होने का कारण साउंड और लाइट होते हैं.

वैज्ञानिकों के मुताबिक, थकान महसूस करना, तनाव में होना या कैफिन का ज्यादा सेवन करने से भी सोते समय झटके लग सकते हैं. हालांकि अभी तक किसी भी रिपोर्ट या स्टडी में इस बात की पुष्टी नहीं हुई है. 

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, शाम के समय में की गई फिजिकल एक्टिविटी भी झटकों का एक कारण हो सकता है. लेकिन अभी तक कोई ठोस रिसर्च सामने नहीं आई है जिसमें सोते समय लगने वाले झटकों की सही जानकारी दी गई हो.

एक अन्य मत के मुताबिक, सोने के दौरान झटके इसलिए भी लगते हैं क्योंकि मष्तिष्क सोने और जगने के बीच जद्दोजहद कर रहा होता है. यह सक्रिय से आराम की अवस्था तक पहुंचने का संक्रमण काल होता है जिसकी वजह से कई बार झटके महसूस होते हैं.

You May Also Like

English News